अगस्त से मिट्टी के तेल का वितरण बन्द – एक दर्जन कोटेदारों पर कार्यवाई

by News Desk
17 views

हमीरपुर :-  खाद्यरसद विभाग की जिला सतर्कता समिति की बैठक में जिला पूर्ति अधिकारी राम जरण यादव ने बताया कि शासन द्वारा माह अगस्त 20 से राशन कार्ड धारकों को मिट्टी तेल वितरण समाप्त कर दिया गया है।  अभियान के तहत 8767 राशन कार्ड जारी किया जा चुके हैं ।

जनपद के सभी दुकानों में इपोस मशीन से खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है । एक भी राशन कार्ड धारक को मैन्युअल वितरण नहीं किया जा रहा है ।राष्ट्रीय पोर्टेबिलिटी के अंतर्गत किसी भी दुकान से कोई भी कार्ड धारक कहीं का भी राशन सुचारू रूप से प्राप्त कर रहा है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत अप्रैल माह से नवंबर माह तक प्रति माह एक बार 5 किलो खाद्यान्न निशुल्क वितरित किया जा रहा है, मई 2020 में समस्त कार्डधारकों को एक लाइफबॉय साबुन का निशुल्क वितरण किया गया है।

अप्रैल-मई जून माह में मनरेगा जॉब कार्ड श्रम विभाग के अंतोदय कार्ड धारकों को निशुल्क खाद्यान्न वितरण किया गया है। दुकानों पर नोडल अधिकारी की उपस्थिति में वितरण कार्य कराया जा रहा है। जनपद में 1395 प्रवासी मजदूरों के प्रवासी राशन कार्ड जारी किया गया है।

जिस पर उन्हें प्रतिमाह प्रति यूनिट 5 किलो खाद्यान्न व 1 किलो चना निःशुल्क वितरित किया जा रहा है ।स्कूल बंद होने के दौरान शिक्षा विभाग द्वारा समस्त छात्रों को टोकन जारी कर दिया गया है। जिस पर कोटेदारों द्वारा उन्हें खाद्यान्न वितरित किया गया है।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत जनपद में 132616 लाभार्थियों के कनेक्शन निर्गत किए जा चुके हैं। जिस पर कोविड के दौरान उनको 3 माह निशुल्क गैस आपूर्ति किया गया है ।जनपद में  163 अशक्त वृद्धजन को उनके घर पर राशन उपलब्ध कराया जाता है। 

प्रवर्तन के अंतर्गत 9दुकाने निलंबित ,चार दुकान निरस्त ,चार विक्रेताओं पर एफ आई आर दर्ज किया गया है। एक एफ आई आर घरेलू गैस के दुरुपयोग में किया गया तथा एक एफ आई आर थोक मिट्टी तेल विक्रेता पर दर्ज कराया गया । 62000की धनराशि जब्त की गई। 

जिलाधिकारी ने ईपॉस मशीन से खाद्यान्न के वितरण को जनपद में प्रभावी और पारदर्शी बताया गया, साथ ही घटतौली रोकने के लिए समस्त विभागीय अधिकारियों को अनवरत जांच करने की निर्देश दिए गए ।जिला खाद्य विपणन अधिकारी को निर्देश दिया गया कि गोदामों से कोटेदारों को बोरी का वजन सहित कॉल कर खाद्यान्न निर्गत किया जाए।

Related Posts