गोंडा:- मंगलवार को अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन गोरखपुर अखिल कुमार ने देवीपाटन परिक्षेत्र के समस्त जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ समीक्षा बैठक की, जिसमें सर्वप्रथम पुलिस अधीक्षक गोंडा शैलेश कुमार पाण्डेय द्वारा अपर पुलिस महानिदेशक का जिले में प्रथम आगमन पर स्वागत किया गया। तत्पश्चात बैठक की कार्रवाई प्रारंभ की गयी, जिसमें पुलिस अधीक्षक गोंडा ने जिले की भौगोलिक स्थिति, अन्य जनपदों से लगने वाली सीमाओं, जिले के सभी थानों, चौकियों व जनपद में पुलिस व कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में विस्तार से बताया।
पुलिस अधीक्षक द्वारा जनपद के अपराध आंकड़ों, घटित घटनाओं, आगामी पंचायत चुनावों को लेकर चल रही तैयारियों के बारे में अवगत कराया। अपर पुलिस महानिदेशक ने निर्देशित किया कि किसी भी घटना की सूचना मिलने पर तत्काल मुकदमा पंजीकृत कर उस पर आवश्यक कार्रवाई की जाए तथा अपराध नियन्त्रण के लिए डिजिटल वॉलिंटियर्स व संभ्रांत व्यक्तियों की मदद ली जाए। अपराधियों के विरुद्ध गुंडा एक्ट, एनएसए व जिला बदर आदि की कार्रवाई की जाए। महिला संबंधी अपराधों व एससी/एसटी के मुकदमों में त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी अभियुक्तों की गिरफ्तारी सुनिश्चित कराई जाए। बीट पुलिसिंग सिस्टम अपनाया जाए, जिसमें कांस्टेबल अपने बीट/क्षेत्र में जाकर लोगों से संपर्क कर अपराध एवं अपराधियों के बारे में पता लगाकर उस पर प्रभावी कार्रवाई कराई जाए। बीट पर अच्छा कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को प्रतिमाह पुरस्कृत किया जाए।
एडीजी जोन अखिल कुमार ने कहा कि आगामी पंचायत चुनाव के मद्देनजर प्रभावी निरोधात्मक कार्रवाई की जाए। आईजीआरएस प्रार्थना पत्रों का समयबद्ध गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कराया जाए। नकबजनी, चोरी व लूट की घटनाओं का शीघ्र अनावरण किया जाए। गोवध तस्करों के विरुद्ध एनएसए की कार्रवाई, भूमाफियाओं का सही से चिन्हांकन कर उनके विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई की जाए। थाना परिसर व कार्यालय को स्वच्छ रखा जाए तथा शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने एवं कार्य क्षमता विकसित करने के लिए नियमित योगाभ्यास व्यायाम कराया जाए।

रिपोर्ट राहुल तिवारी जिला संवाददाता गोंडा