कानपुर। शहर में कोरोना वायरस की जांच सोमवार से शुरू हो गई। मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की कोविड-19 लैब का सुबह कमिश्नर सुधीर एम बोबड़े और डीएम डॉ. ब्रह्मदेव राम तिवारी ने शुभारंभ किया। लैब की शुरूआत 45 संदिग्धों के नमूनों की जांच से की गई। इन नमूनों की जांच रिपोर्ट करीब छह घंटे में आ जाएगी। बताते चलें कि अभी तक कोरोना संदिग्धों के नमूनों की जांच केजीएमयू लखनउ से करायी जाती थी। पिछले दिनों शासन के निर्देश के बाद मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 लैब बनाकर संसाधन जुटाने की कवायद हुई। शासन के निर्देश पर मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. आरतीलाल चंदानी ने इसको लेकर पूरी तैयारियाँ कराई।

लैब का शुभारंभ करते हुए कमिश्नर सुधीर एम बोबड़े ने बताया कि यह लैब एक दिन में दो शिफ्ट में काम करेगी। एक शिफ्ट में 46 नमूनों की जांच हो सकेगी। यहां लिए गए नमूनों की जांच रिपोर्ट पांच से छह घंटे में आ जाएगी। इस कोविड-19 लैब में पीसीआर लेवल की जांच होगी। पूरी तरह से इस जांच को निशुल्क रखा गया है। दो से तीन दिन में दूसरी यूनिट की भी शुरूआत की जाएगी।

लैब की शुरूआत के बाद अब हॉटस्पॉट क्षेत्रों में स्क्रीनिंग कर सैंपल की संख्या को बढ़ाया जाएगा। कमिश्नर ने कहा कि रैपिड टेस्टिंग किट को भी जल्द मंगाने के प्रयास किये जा रहे हैं, जिससे आसपास के जिलों को भी इसका फायदा मिल सके।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा