रामपुर। आधी रात को दो सिपाहियों ने बीच चैराहे पर रामपुर के डीएम को खूब फटकारा साथ ही लाॅकडाउन चलने तक घर से न निकलने की नसीहत भी दी। इस पर अगले दिन डीएम ने दोनों सिपाहियों को अपने कार्यालय में बुला कर उन्हें शाबाशी दी।

चैकिये नहीं यह कोई काल्पनिक कहानी नहीं है। बल्कि बीती रात डीएम रामपुर आञ्जनेय कुमार सिंह ने लाॅकडाउन की हकीकत जानने के लिए आधी रात को मोटरसाइकिल से अकेले ही शहर का हाल जानने निकल गये है। थोड़ा आगे जाते ही उन्हें ड्यूटी पर तैनात दो सिपाहियों ने रोक लिया। सिपाहियों ने उन्हें लॉकडाउन की अहमियत समझाते हुए लाॅकडाउन तोड़ने पर होने वाली कानूनी कार्यवाही के बारे में भी चेतावनी दी। इस चेतावनी के साथ ही डीएम अपनी मोटरसाइकिल लेकर वापस चले गये।

मोटर साइकिल पर सवार होकर जिलाधिकारी रामपुर शहर के ज्वाला नगर, अजितपुर, कोसी नदी पुल, मिस्टन गंज, शाहबाद गेट आदि इलाके घूमते रहे। अपने ही शहर में आधी रात के वक्त लॉकडाउन में जिलाधिकारी मोटर साइकिल से दो घंटे तक घूमते रहे। इस दौरान डीएम को महज दो चेकिंग प्वाइंट पर ही रोका गया। शहर में रात के वक्त किस तरह खुलेआम लॉकडाउन की कुछ जगहों पर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, यह आंख से देखने और जानने के बाद भी डीएम ने रात में किसी को नहीं टोका।