आपका छोटा सा दान बचा सकता है किसी की जान

by saurabh

कानपुर। कसौधन वैश्य सेवा समिति की ओर से आज गांधी जयंती के अवसर पर आई0एम0ए0 हाल कानपुर में तृतीय ब्लड डोनेशन कैम्प का आयोजन किया गया। इस अवसर पर आरोग्य धाम वरिष्ठ होमियोपैथी चिकित्सक डॉ हेमंत मोहन समेत कई अन्य लोगो ने स्वैछिक रक्तदान किया एवं दूसरों को भी रक्तदान के लिए प्रोत्साहित किया।

इस अवसर पर डॉ हेमंत मोहन ने कहा कि रक्तदान करने से जुड़ी हुई कई भ्रांतियां जो समाज मे फैली हुई हैं उन्हें दूर करने की जरूरत है। रक्तदान करने से व्यक्ति कमजोर नही होता अपितु नई रक्त कोशिकाओं के बनने से उसके स्वास्थ्य में इजाफा होता है।
\

एक व्यक्ति के रक्त से रक्त के अलग अलग कंपोनेंट जैसे आरबीसी, प्लाज्मा, प्लेटलेट्स आदि अलग किये जाते हैं जो कि अलग लोगो के काम आते हैं। सिर्फ अस्वस्थ व्यक्ति को रक्तदान से बचना चाहिए। बाकी कोई भी 20 वर्ष से 60 वर्ष स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है।

डॉ आरती मोहन ने कहा कि रक्तदान करना किसी को जीवन प्रदान करने के बराबर है। परन्तु गर्भवती, दूध पिलाने वाली तथा मासिक धर्म मे महिलाओं को रक्तदान से परहेज करना चाहिए। इस अवसर पर रोटरी क्लब ऑफ कानपुर विनायक श्री के पूर्व अध्यक्ष रोटेरियन सचिन दीक्षित, कसौधन वैश्य सेवा समिति के प्रबंधक गिरीश कसौधन, अध्यक्ष अनिल कसौधन, महामंत्री संजीत कसौधन, कोषाध्यक्ष वासुदेव कसौधन एवं विशिष्ट उपाध्यक्ष राजेन्द्र कसौधन आदि मौजूद रहे।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts