उज्जैन। जल्द ही उज्जैन के विकास को पंख लग जाएंगे एजुकेशन मिनिस्टर डॉक्टर यादव ने कही। बुधवार को प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने शहर के विभिन्न वार्डों में निर्माण कार्यों का भूमि पूजन किया। इसमें वार्ड-53 में मालनवासा स्थित पानी की टंकी के पास विजय आंजना के घर के सामने 14 लाख रुपये की लागत से आरसीसी नाली निर्माण, तेजाजी मन्दिर से पंचक्रोशी मार्ग तक शक्करवासा में 2.23 लाख रुपये की लागत से आरसीसी नाला निर्माण और पुलिस लाइन स्थित नागझिरी मीडिल स्कूल के पास 18 लाख रुपये की लागत से सीसी रोड एवं नाली निर्माण कार्य का भूमि पूजन मंत्री डॉ.यादव द्वारा किया गया।

भूमि पूजन कार्यक्रम में संजय अग्रवाल, राजकुमार बंशीवाल, स्थानीय पार्षद, परेश कुलकर्णी, आनन्द खिची एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

मंत्री डॉ.यादव ने इस दौरान कहा कि विकास के कार्यों में आम जनता की मूलभूत सुविधाओं का भी विशेष ध्यान रखते हुए सुविधाओं का विकास किया जाना चाहिये। विकास कार्यों का सिलसिला निरन्तर चलते रहना चाहिये। आने वाले समय में उज्जैन में विकास के मामले में पंख लगने वाले हैं। उज्जैन में उद्योगों के विकास के लिये सरकार द्वारा कई योजनाएं बनाई जायेंगी। इससे स्थानीय लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। मंत्री डॉ.यादव ने कहा कि उज्जैन के स्थानीय लोगों को प्रतिदिन किसी न किसी कार्य से देवास और इन्दौर रोड से गुजरना पड़ता है। भविष्य में इन्दौर के लिये दो नये रोड बनाये जायेंगे।
उज्जैन के विकास के महत्व से सभी को अवगत कराने की बहुत जरूरत है। विभिन्न वार्डों में बेरोजगार लोगों की सूची बनाई जाये। आने वाले समय में उनकी ट्रेनिंग करवाई जाये, ताकि वे रोजगार प्राप्त कर सकें। परम्परागत खेती और अन्य कामकाज के साथ-साथ रोजगार के नये साधन और व्यवस्था का सृजन भी हमें करना होगा। वर्तमान समय में आय के साधन बढ़ाये जाने की आवश्यकता है।
उज्जैन में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ-साथ बड़े, छोटे और लघु उद्योग ग्रामोद्योग, तथा स्वास्थ्य सेवाएं भी प्रारम्भ की जायेंगी, ताकि यहां के युवाओं को रोजगार के विभिन्न अवसर मिल सकें। भूमि पूजन के पश्चात मंत्री डॉ.यादव ने वृक्षारोपण भी किया।
पुलिस लाइन में आरसीसी नाली और सड़क निर्माण के भूमि पूजन के दौरान मंत्री डॉ.यादव ने कहा कि हम सभी के लिये यह बड़े हर्ष की बात है कि पुलिस लाइन के जवान जो आमजन की सेवा में निरन्तर लगे रहते हैं, उनके बच्चे जिस विद्यालय में पढ़ने के लिये जायें, वहां का रास्ता पक्का हो तथा बच्चों को स्कूल तक आने में किसी भी प्रकार की असुविधा न हो। जो भी निर्माण कार्य होने हैं, उनमें गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। पुलिस लाइन में समय-समय पर स्वच्छता और साफ-सफाई हेतु कार्यक्रम भी आयोजित किये जायें।

रिपोर्ट आसिफ खान