कौशांबी :- जनपद उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गृह जनपद में किसानों द्वारा तहसील का किया घेराव केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन किसान विरोधी अध्यादेश विधेयक के विरोध में समर्थ किसान पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सिराथू तहसील का घेराव किया और सड़क पर उतरकर नारेबाजी की। पार्टी नेता अजय सोनी की अगुवाई में पार्टी के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने विधेयक के विरोध में तहसील परिसर में जमकर नारेबाजी की और महामहिम राष्ट्रपति महोदय को संबोधित एक पांच सूत्रीय ज्ञापन उपजिलाधिकारी सिराथू राजेश श्रीवास्तव को सौंपा। सौंपे गए ज्ञापन में तत्काल केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनों किसान अध्यादेश विधेयक वापस लेने, कौशांबी की सभी सुखी नहरों में पानी छोड़े जाने, सिराथू को नगर पालिका घोषित करने, उदहिन बुजुर्ग को ब्लॉक बनाने, किसानों से क्रय केंद्रों पर बिना कमिशन के धान क्रय करने जैसी मांगे शामिल थीं।

इसके पूर्व तहसील परिसर सिराथू में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अजय सोनी ने कहा कि केंद्र सरकार किसानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है और उद्योगपतियों के इशारों पर किसानों को बंधक बनाने का प्रयास कर रही है। किसान अध्यादेश विधेयक लाकर सरकार किसानों को हमेशा के लिए उद्योगपतियों का गुलाम बनाना चाहती है, जिसे कत्तई मंजूर नहीं किया जाएगा और किसानों को साथ लेकर तीनों किसान अध्यादेश विधेयको के वापसी को लेकर आंदोलन किया जाएगा।

अजय सोनी ने हाल में किसानों के धान बिक्री का जिक्र करते हुए कहा कि आज सरकारी नीतियों का ही परिणाम है कि किसान अपना धान औने पौने दामों पर बेंचने को विवश है।

इसी के साथ उदहिन बुजुर्ग को ब्लॉक बनाने की मांग पर विचार रखते हुए कहा कि सिराथू ब्लॉक का परिक्षेत्र बड़ा होने के कारण आम जनता का समुचित विकास नहीं हो रहा है, अतएव अगर सिराथू और मंझनपुर का कुछ हिस्सा काटकर उदहिन बुजुर्ग को जिले का एक नया ब्लॉक बना दिया जाए तो निश्चित ही क्षेत्रीय लोगों का ज्यादा विकास होगा।

इस अवसर पर अमृत लाल, रमेश प्रसाद केसरवानी, जीतू केसरवानी, सुशील पांडेय, सरुख अहमद, आंनद द्विवेदी, रामशंकर यादव, उमेश पटेल समेत तमाम लोग मौजूद रहे।

रिपोर्ट श्रीकांत यादव