Home StateRajsthanAlwar एक कदम आत्मनिर्भर भारत की ओर, गांव की महिलाओं को गांव में ही रोजगार के अवसर हुये उपलब्ध

एक कदम आत्मनिर्भर भारत की ओर, गांव की महिलाओं को गांव में ही रोजगार के अवसर हुये उपलब्ध

by Yogi
148 views

नारायणपुर/बानसूर । देशभर में कोविड -19के कारण मास्क की मांग बड़ी है जिसकी आपूर्ति के लिए अलवर जिले के बानसूर ब्लॉक में 300 स्वयं सहायता समूह की 3500 महिलाएं डिजाइनर मास्क बनाकर अपनी आजीविका चलाते हुए कोरोना के खिलाफ लड़ाई में देश को मजबूत कर रही है। इनका योगदान प्रशंसनीय है अब तक इनके द्वारा 35000 मास्क बनाए जा चुके हैं, जिसमें 15000 मास्क युवा जागृति संस्थान द्वारा एवं महिलाओं द्वारा अपने आसपास के लोगों को एवं कोरोना योद्धाओं जैसे पुलिस डॉक्टर स्वास्थ्य कर्मी बैंक सामाजिक कार्यकर्ता प्रशासनिक अधिकारी आदि को नि:शुल्क वितरित किए गए हैं।
राजस्थान के अलवर जिले के बानसूर ब्लॉक की युवा जागृति नारी शक्ति फेडरेशन की महिलाएं जो इन दिनों एक से बढ़कर एक मास्क बनाने में इन दिनों जुटी हुई है। इस फेडरेशन की मास्क बनाने वाली महिलाएं काफी उत्साहित हैं, क्योंकि इनके हाथों से बनाए गए मास्क देश के अलग-अलग हिस्सों के लोग पहनेंगे। युवा जागृति संस्थान सचिव गोकुल चंद सैनी ने बताया कि यह महिलाएं अपनी आजीविका चला पाएंगे साथ में इस संकट की घड़ी में जब सभी रोजगार छिन गए हैं इस दौर में अपना घर भी चला पाएंगी। इस फेडरेशन से जुड़ी हुई गरीब महिलाओं को इस संकट की घड़ी में रोजगार मिलने के साथ-साथ आजीविका चलाने का सहारा भी प्राप्त हुआ लॉकडाउन के दौरान इन ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने और उनके सपनों को पंख लगाने का बीड़ा उठाया है। युवा जागृति संस्थान ने देश के दूरदराज इलाकों एवं गांव के लोगों को रोजगार का साधन मिले इसी उद्देश्य को ध्यान में रखकर आत्मनिर्भर भारत के इस स्वपन को हकीकत बनाने के लिए अलवर जिले के बानसूर ब्लॉक में 3500 महिलाओं को जोड़ा।
युवा जागृति नारी शक्ति फेडरेशनक की सचिव मनीषा देवी का कहना है कि हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने आत्मनिर्भर भारत की अपील की है हम समझते हैं कि हमारी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है इस पहल के चलते यह हमारी छोटी सी कोशिश है।

युवा जागृति संस्थान पर नैब स्किल नाबार्ड कौशल प्रशिक्षणक की ट्रेनर नवीन देवी इन महिलाओं को डिजाइनर मास्क बनाने की ट्रेनिंग भी प्रदान कर रही है साथ में युवा जागृति संस्थान इन्हें फारवर्ड लिंकेज प्रदान कर रहा है जिससे इनके बल्क में आर्डर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। यह कार्य फेडरेशन एवं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं दोनों के लिए उपयोगी साबित होगा। आज की स्थिति में इनके आर्थिक क्रियाकलाप के विकास के लिए उपयुक्त हैं मास्क बनाने के लिए तकनीक एवं मटेरियल उपलब्ध कराने एवं मास्क बनाने के बाद उसे मार्केट लिंकेज कराने का काम युवा जागृति संस्थान कर रहा है निश्चित रूप से युवा जागृति फेडरेशन द्वारा किए जा रहे प्रयास आत्मनिर्भर भारत की ओर एक सुनहरा कदम साबित हो रहा है। गांव की महिलाओं को गांव में ही रोजगार के अवसर उपलब्ध करा रहा है।

सुनील कुमार

You may also like