Home StateUttar Pradeshkaushambi कुछ वर्षों में अकूत संपत्ति का मालिक बना थाने का मुंशी

कुछ वर्षों में अकूत संपत्ति का मालिक बना थाने का मुंशी

by nikhil
13 views

कौशाम्बी:- बीते 3 वर्षों से उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की भाजपा की सरकार काबिज है लेकिन सपा कि सरकार से आस्था रखने वाले थाने के एक मुंशी की आस्था आज भी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ जुड़ी है और वह योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री मानने को कतई तैयार नहीं है अखिलेश यादव से आस्था रखने वाले उक्त मुंशी के मित्र होते हैं।

और योगी आदित्यनाथ पर आस्था रखने वाले लोग उक्त मुंशी के विरोधी होते हैं थाने में तैनात इस मुंशी का इस कदर जलजला है कि थानेदार मुंशी के लिए गए निर्णय को बदलने का साहस नहीं कर पाते हैं बीते 3 वर्षों से अधिक समय से वह मुंशी एक थाने पर जमा हुआ है जहाँ उसने अकूत संपत्ति अर्जित की आला अधिकारियों का स्थानांतरण आदेश भी उस पर नहीं जारी हो सका है जिससे उक्त मुंशी के हौसले बुलंद है इन दिनों वह मुंशी चरवा थाने में तैनात है।

पुलिस महकमे की काली कमाई से एक मुंशी कुछ ही वर्षों में अकूत संपत्ति का धनी बन चुका है अपने गृह जनपद के साथ में पड़ोसी जनपद के शहर में आलीशान बंगला लग्जरी कार के साथ-साथ बड़े बैंक बैलेंस के साथ बेनामी संपत्ति का मालिक उक्त मुंशी बन चुका है।

चायल सर्किल के एक थाने में तैनात उक्त मुंशी का थाने में इस कदर दबदबा है कि थानेदार उसकी बातों को नकारने का साहस नहीं कर पाते जिस थाने में इस मुंशी की तैनाती है वहां सब कुछ मुंशी के निर्देश पर चलता है बताना जरूरी है कि उक्त मुंशी के नेतृत्व में समांतर थानेदार की हैसियत से इन दिनों थाना चलाया जा रहा है।

पीड़ितों से धना दोहन करना और पीड़ितों से धन ना मिलने पर उन्हें गाली – गलौज कर लाठियों से पीटकर थाने से भगा देने के मामले को चरवा थानेदार विवशता के साथ देखते रह जाते हैं इलाके के जरायम के धंधे में लगे लोगों से उक्त मुंशी के गहरे रिश्ते हैं और जरायम के धंधे में लगे हर लोगों की एकजाई की रकम उक्त मुंशी द्वारा वसूली की जाती है।

इतना ही नहीं अब तो थाने के सिपाहियों से भी प्रतिदिन अवैध वसूली का सिलसिला उक्त मुंशी ने शुरू कर दिया है जिससे थाने के सिपाही भी उसके आतंक से त्रस्त हैं और मुंशी के कारनामों को खुलकर सड़क पर खाकी ही बता रही है पुलिस विभाग में अवैध वसूली कर अकूत संपत्ति का मालिक बन चुके उक्त मुंशी के कारनामे की यदि शासन स्तर से उच्च स्तरीय जांच हुई तो मुंशी को गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

लेकिन क्या योगीराज में अवैध तरीके से अर्जित की गई संपत्ति के मालिक मुंशी के कारनामों पर जांच हो पाएगी काली कमाई का सरताज मुंशी को क्या दंड मिल पाएगा यह व्यवस्था पर सवाल है लेकिन समान्तर थानेदार बन कर थाने चलाने वाले उक्त मुंशी की अवैध वसूली इन दिनों इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है।

क्षेत्र में कई हत्याओं के मामले में अपराधियों से लाखों की रकम वसूलने का भी आरोप उक्त मुंशी पर बार-बार लग रहा है जिन अपराधियो ने उक्त मुंशी ने लाखों की रकम वसूल ली है उन अपराधियो की गिरफ्तारी का साहस थानेदार नही कर रहे हैं पुलिस वर्दी को कलंकित कर वसूली में जुटे मुंशी के कारनामों को अभी तक अधिकारियों ने संज्ञान नहीं लिया है।

यदि मुंशी के कारनामो को संज्ञान लेकर उसकी संपत्तियों की जांच कराई गई तो उसको दंड मिलना तय है।

रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

You may also like