कोरोना को कुचलकर विजयी होगा भारत

by News Desk
59 views

सूर्य ग्रहण यानि 26 दिसंबर 2019 के समय ही ग्रह स्थितियां बहुत प्रतिकूल थीं। उस समय ही हमने दैनिक जागरण के संतकबीरनगर संस्करण में किसी प्राकृतिक आपदा का संकेत किया था।मैंने लिखा था कि यह ग्रहण शुभ नहीं है व उद्योग तथा व्यापार जगत के लिये बहुत ही अशुभ है। दरअसल दिसंबर में शनि, गुरु,सूर्य व केतु एक साथ sujeetधनु राशि में थे।24 जनवरी को शनि मकर राशि में प्रवेश किये हैं। शनि जब भी मकर में प्रवेश करते हैं वह समय अच्छा नहीं होता है।गुरु 30 मार्च को मकर में प्रवेश किये।30 मार्च के बाद गुरु एक साथ मकर में मंगल व शनि के साथ है। 30 मार्च से 14 अपैल तक कैरोना का संक्रमण तेज हुआ।14 के बाद सूर्य मेष में एक माह रहेंगे। 15 अप्रैल से 14 मई फिर तेज हुआ। गुरु 30 जून को वक्री होकर पुनः धनु राशि में आएंगे।30जून तक भारत में कोरोना का कहर बहुत ही तेज होगा।भारत में इसका संक्रमण 30 जुलाई के बाद थोड़ा रुकेगा फिर 15 अगस्त तक तेज होगा। भारत की कुंडली वृष लग्न व कर्क राशि की है। 30 जून के बाद गुरु का वक्री होना भारत के लिए थोड़ा शुभ रहेगा लेकिन कैरोना समाप्त नहीं होगा।जांच बढ़ेगा।लोग अधिक संख्या में ठीक भी होंगे।वर्तमान में चन्द्रमा की महादशा बहुत ही शुभ है कैरोना का संक्रमण भारत में विश्व के अन्य देशों की तुलना में कम होगा तथा भारत में लोग बहुत ज्यादा ठीक भी होंगे।01मई से 27 जुलाई के मध्य चन्द्रमा/शनि/राहु भारत को विश्व गुरु की तरफ ले जाएगा।30 जून तक भारत पाकिस्तान के सम्बंध में युद्ध जैसी स्थिति आ सकती है। मंगल का कुम्भ गोचर व शनि का मकर में वक्री होना बहुत शुभ नहीं है।कैरोना के साथ सावधानी पूर्वक जीना होगा। भारत की शक्ति से पाकिस्तान को परास्त होना है। 15 जुलाई के बाद विश्व के बड़े बड़े देश भारत के सामने नतमस्तक हो जाएंगे।कई देश भारत से मित्रता का प्रयास तेज कर देंगे। हमारा देश 27 जुलाई के बाद एक महाशक्ति के रूप में उभर कर आएगा।विश्व के कई विकसित देश भारत के साथ व्यापार करना चाहेंगे व सहयोग की आस लगाएंगे। जुलाई के बाद भी कैरोना बीमारी का संक्रमण थोड़ा बहुत चन्द्रमा/sujeetशनि/गुरु यानी 13 अक्टूबर तक रहेगा लेकिन आंशिक रूप से रहेगा।।इसलिए घरों में रहें।सोसल डिस्टेंसिंग का पूर्णतया पालन करें। हाथ साबुन से धुलते रहें।सरकार जैसा आदेश करती है उसका पूर्णतया पालन करें।बहुत भयभीत होने की बात नहीं है।भारत कैरोना को कुचल कर विजयी होगा तथा एक विश्व महाशक्ति के रूप में व विश्वगुरु के रूप में स्थापित होगा। 13 अक्टूबर के बाद इसका कोई समुचित इलाज आ सकता है।

Advertisements

सुजीत जी महाराज
(प्रख्यात ज्योतिषाचार्य एवं आध्यात्मिक गुरु)

Related Posts