कोविड 19 को छिपाने से उसकी घातकता बढ़ेगी

by News Desk
21 views

हमीरपुर :- कोविड-19 एवं संचारी रोगों के संक्रमण से बचाव व नियंत्रण के दृष्टिगत जनपद के नोडल अधिकारी / महानिदेशक पर्यटन रवि कुमार एनजी ने स्वास्थ्य सुविधाओं, स्वच्छता एवं सेनेटाइजेशन पर जनपद की टीम -11 के साथ सर्किट हाउस में समीक्षा की।


नोडल अधिकारी ने कहा कि डोर टू डोर सर्वे करने वाली सर्विलांस टीम की ठीक ढंग से मॉनिटरिंग की जाए । उनसे कोविड-19 के सर्वे के संबंध में जानकारी ली जाए ,यदि उनको ठीक ढंग से जानकारी नहीं है , तो उनको पुनः ट्रेनिंग दी जाए।

उन्होंने कहा कि अस्थमा, हार्ट के मरीज, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज व हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को चिन्हित कर उनको अलर्ट करें तथा उनमें कोविड-19 के जरा सा भी लक्षण आने पर तत्काल उनकी जांच की जाए तथा पॉजिटिव आने पर उनका इलाज प्राथमिकता से किया जाए ।

कोविड-19 महामारी का शुरुआत में ही पता चलने पर इसका इलाज संभव है, देर होने पर इसमें मृत्यु दर बढ़ जाती है । उन्होंने कहा कि लोगों को जागरूक किया जाए कि अनावश्यक घर से बाहर ना निकले, घर से बाहर निकलने पर मास्क का प्रयोग करें तथा 2 गज की दूरी का पालन करें।

कोविड के संबंध में जन जागरूकता व बचाव के लिए एलईडी वैन के माध्यम से तथा स्थानीय भाषा में वृहद स्तर पर प्रचार प्रसार किया जाए। इस बीमारी को किसी भी दशा में छुपाया न जाय।


नोडल अधिकारी ने कहा कि मरीजों की समय- समय पर काउंसलिंग कर उनको मानसिक तौर पर मजबूत किया जाए । 50 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों को इस महामारी से अधिक प्रभावित होने की आशंका है । अतः ऐसे लोग विशेष तौर पर सतर्क रहें।

उन्होंने कहा कि जनपद में कोविड की मृत्यु दर न्यूनतम करने हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी संभव प्रयास किया जाए। जनपद में आर टी पी सी आर , एंटीजन व ट्रूनेट के माध्यम से अधिक से अधिक टेस्ट किया जाए ।

मरीजों में वायरल लोड बढ़ने से पहले ही उनको ट्रैक कर हॉस्पिटलाइज करें तथा उनका इलाज शुरू करें। उन्होंने कहा कि डाक्टरों द्वारा अपनी सुरक्षा का विशेष ध्यान दिया जाए तथा कोविड-19 अथवा संबद्ध हॉस्पिटल में कार्यरत चिकित्सा अधिकारियों द्वारा इन-95 मास्क का ही प्रयोग किया जाए।

नोडल अधिकारी ने कहा कि कोविड अस्पतालों में सभी सीसीटीवी क्रियाशील रहे, सी सी टी वी के माध्यम से आने जाने वालों तथा वहाँ दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं पर नजर रखी जाए। कहा कि मरीजों की शत-प्रतिशत कांटेक्ट ट्रेसिंग व उनकी जांच हो ।

अधिक से अधिक लोगों में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराकर उसको बार-बार एक्सेस कराया जाए । नियमित रूप से होम आइसोलेशन में रहने वालों का भौतिक सत्यापन व प्रतिदिन की रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड की जाए।

नोडल अधिकारी ने कहा कि कुरारा लेवल वन हॉस्पिटल को कोविड लेवल 2 हॉस्पिटल बनाने हेतु सभी तैयारियां पूर्ण कर ली जाए ।
नोडल अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 व संचारी रोगों के नियंत्रण के लिए ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में नियमित रूप से साफ सफाई के विशेष अभियान चलाए जाएं।

तथा नियमित रूप से सैनिटाइजेशन , एंटी लारवा छिड़काव तथा फागिंग कराया जाए। सर्विलांस टीम द्वारा डोर टू डोर सर्वे किया जाय । शनिवार व रविवार को प्रभावी ढंग से स्वच्छता का अभियान चलाया जाए। एंबुलेंस व्यवस्था की समीक्षा करते हुए उसके रिस्पांस टाइम व एंबुलेंस की व्यवस्था में सुधार करने के निर्देश दिए ।

नोडल अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 को छुपाया ना जाए, इसको छुपाने से रोग की घातकता बढ़ जाती है। इससे बचने का सतर्कता ही एकमात्र उपाय है। जिलाधिकारी डॉ ज्ञानेश्वर त्रिपाठी , मुख्य विकास अधिकारी कमलेश कुमार वैश्य,जॉइंट मजिस्ट्रेट संजय कुमार मीणा, सीएमओ डॉ आर के सचान मौजूद रहे ।

Related Posts