गंभीर मरीज को अस्पताल से बाहर निकाला हुई मौत 

by News Desk
29 views

कौशाम्बी -:- जिले के स्वास्थ्य विभाग के लापरवाही का एक बड़ा मामला फिर सामने आया है  अस्पताल में भर्ती महिला मरीज की  जब हालत खराब हुई तो  उसका इलाज कर चिकित्सकों ने  उसे जीवन दान देने के बजाय  अस्पताल से निकाल कर बाहर भेज दिया जिस पर महिला घर चली गई जहां दूसरे दिन उसकी मौत हो गई है  जिले में  स्वास्थ्य विभाग इस तरह के बार-बार कारनामे कर रहा है लेकिन शासन-प्रशासन  स्वास्थ्य विभाग के इन मामलों में गंभीर नहीं है जिससे मुख्य चिकित्सा अधिकारी और चिकित्सकों की  मरीज विरोधी कारनामों में परिवर्तन होता नहीं दिख रहा है  यदि शासन ने इस मामले को गंभीरता से लिया तो  मुख्य चिकित्सा अधिकारी पर जहां शासन की गाज गिरना तय है वहीं  जिले की व्यवस्था भी सुधर सकती है लेकिन योगीराज में क्या यह संभव है 

जिले में स्वास्थ्य विभाग के मरीज बिरोधी घटिया कारनामे की चर्चाओं पर सावित्री देवी पत्नी बच्चा लाल उम्र 52 वर्ष निवासी ग्राम सभा केन कनवार का उदाहरण पर्याप्त है सावित्री देवी लम्बे समय से ब्लड कैंसर की मरीज थी कुछ दिन पहले इनकी कोरोना संक्रमण जांच हुई थी जिसमे रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी स्वास्थ्य विभाग की टीम एम्बुलेंस से उसे घर से उठा लाई और मंझनपुर कोविड अस्पताल में बीमार महिला को भर्ती करवा दिया था 

लेकिन महिला की हालत गंभीर होने पर दर्द से तड़प रही  उक्त  बीमार महिला को बीते दिन अस्पताल से जीवित अवस्था मे निकाल कर बाहर कर दिया इलाज में लगे चिकित्सकों की निर्दयता का यह मामला का यह मामला एक बार फिर लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया जिस पर मजबूर परिजन उसे लेकर घर चले गए जहां आज गुरुवार की सुबह संक्रमित महिला मरीज की मृत्यु हो गयी ।शासन और प्रशासन की देखरेख में आज उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।सवाल यह कि संक्रमित को घर भेज देने से क्या संक्रमण का खतरा बढ़ेगा

संक्रमित के संपर्क में आये लोगों की जब स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच को पहुंची तो अधिकतर लोगों ने अपने घर बंद कर लिए कुछ खेत चले गए,कुछ लोग रिस्तेदारी भी चले गए मौके पर प्रसाशन ने महिला पुलिस कर्मियों को भेजकर जांच में सहयोग लिया

रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

Related Posts