गृह वाटिका व मिक्स अनाज से परिवार को स्वस्थ रखे- डॉ फूल कुमारी

by News Desk
27 views

हमीरपुर ।कुरारा विकास खण्ड के गांव सरसई में राष्ट्रीय पोषण सप्ताह में स्थानीय महिलाओं को उपलब्ध अनाजो के पौष्टिक महत्व के बारे मे कृषि विज्ञान केंद्र कुरारा की गृह वैज्ञानिक डॉ फूल कुमारी ने कहा कि मल्टी ग्रेन आटा, पौष्टिक लड्डू, सत्तू, बालाहार बनाया जा सकता है, क्योंकि महिलाओं और बच्चों में आइरन व कैल्शियम की कमी पाई जाती है। जिसके कारण बच्चे एनीमिया व क्वाशियोर्कर नामक बीमारी के शिकार हो जाते है और आयु बढ़ने के साथ महिलाओं में आश्टियोपोरोसिस बीमारी हो जाती है ।

इसलिए कुपोषण निवारण के लिए उपलब्ध अनाजो को मिश्रित करके ही दैनिक आहार में फीसदी चना,5 फीसदी जौ,5फीसदी अलसी मिलाकर आटा पिसाये । 300 ग्राम मौसमी सब्जियां प्रति व्यक्ति प्रतिदिन एवम 85 से 100 ग्राम फल , दूध , गुड़ का सेवन करे।जिससे हमारे शरीर को सभी आवश्यक पोषक तत्व-प्रोटीन, कार्बो हाइड्रेट, वसा,खनिज लवण ,विटामिन की पर्याप्त मात्रा मिलती रहेगी ।जिससे पूरा परिवार खुश हाल व स्वस्थ रहेगा।

शस्य वैज्ञानिक शालिनी ने कहा कि परिवार के पोषण की जिम्मेदारी महिलाओं की है ।अगर घर का कोई व्यक्ति बीमार पड़ जाता है तो उसकी सेवा भी महिलाएं ही करती है ।परिवार को उचित पोषण देना जागरूक महिलाओं का दायित्व है।उन्होंने दलहनी, तिलहनी,ज्वार, बाजरा के पोषक तत्वों के बारे में बताया ।रोजाना 5 – 6 लीटर पानी पीने को कहा ।गृह वैज्ञानिक डॉ फूल कुमारी ने रबी के मौसम की सब्जियां लगाने के लिए किट दी।ताकि महिलाएं घर के आस पास पोषक वाटिका लगाकर परिवार को पौष्टिक एवम संतुलित आहार देकर स्वस्थ रख सके ।वाटिका से आसपास का वातावरण शुद्ध हो सकेगा । मंजू,विमला, निर्मला,कस्तूरी समेत गांव की 28 महिलाएं शामिल रही ।

Related Posts