गोली मारकर की गई थी नेपाली युवक की हत्या

by vaibhav

लखीमपुर-खीरी। पलिया कलाँ गौरीफंटा बॉर्डर से सटे भारतीय सीमा के जंगल में मिले नेपाली युवक के शव पर दो गोलियों के निशान मिले हैं। शव को देखकर यह साफ प्रतीत हो रहा था कि उसकी गोली मारकर हत्या की गई है।

नेपाल क्षेत्र में एक नेपाली युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। इतना ही नहीं हत्यारों ने षड्यंत्र के तहत शव को जंगल में लाकर भारतीय सीमा में फेंक दिया और फरार हो गए। मृतक के सीने के पिछले हिस्से पर आरपार हुई गोली के दो निशान मिले हैं। मृतक का शव भारतीय सीमा में पाए जाने के चलते गौरीफंटा पुलिस ने उसे पीएम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया है। परिजनों के दिए गए बयान के आधार पर पुलिस के मुताबिक युवक अर्ध विक्षिप्त भी होना बताया जा रहा है।
गौरीफंटा बॉर्डर से सटे पड़ोसी मित्र राष्ट्र नेपाल के कंचनपुर की सीमा से लगे दुधवा जंगल में एक नेपाली नागरिक की हत्या कर शव भारतीय सीमा में फेंक दिया गया था। जंगल में शव पड़े होने की सूचना पर गौरीफंटा कोतवाल रमेश चंद यादव पुलिस व एसएसबी जवानों के साथ मौके पर जा पहुंचे थे। मृतक की शिनाख्त में नेपाली नागरिक के रूप में पाए जाने के बाद मामले की सूचना नेपाल पुलिस को दी गई थी। सूचना मिलने के कुछ समय बाद भी नेपाली प्रशासन मौके पर आ पहुंचा था। जांच में नेपाली पुलिस को मृतक की शिनाख्त शिवलाल राणा के रूप में हुई थी। मृतक के सीने के पिछले हिस्से में दो गोली आर पार करने जैसे निशान पाए गए हैं। शव भारतीय सीमा में मिलने के चलते कोतवाली पुलिस ने देर शाम उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया था। परिजनों के मुताबिक मृतक बुधवार दोपहर से गायब चल रहा था। जानकारी देते हुए गौरीफंटा कोतवाल रमेश चंद यादव ने बताया कि मौत का कारण पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल सकेगा। चूंकि शव भारतीय सीमा में मिला था इसलिए उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेजा गया है। परिजनों को बुलाकर भी पूछताछ की जा रही है।

रिपोर्ट-गोविन्द कुमार

Related Posts