NEWS KRANTI
Latest News In Hindi

ग्राम पंचायतों के परिसीमन से नाराज ग्रामीणों ने किया चुनावों के बहिष्कार का ऐलान

राज्य सरकार ने बहुप्रतीक्षित ग्राम पंचायत और पंचायत समितियों के पुनर्गठन को हरी झंडी देते हुए शनिवार शाम को अधिसूचना जारी कर दी अधिसूचना जारी होने के बाद प्रदेश में नए सरपंचों के लिए राजनीतिक जमीन तैयार हो गई है साथ ही ग्राम पंचायतों के परिसीमन को लेकर चल रही रस्साकशी के दौरान ग्राम पंचायतों से हटकर दूसरी ग्राम पंचायतों में जुड़ने वाले गांवों में विवाद सामने नजर आने लगे हैं

नवीन परिसीमन के दौरान कुछ गांव नई ग्राम पंचायतों में जोड़े गए वह उन ग्राम पंचायतों की सीमाओं को छू भी नहीं रहे और वह उनमें शामिल कर दिए गए इसका ताजा उदाहरण ग्राम पंचायत तालड़ा में शामिल किए गए ग्राम मारकपुर का है जो कि ग्राम तालड़ा से लगभग 10 किलोमीटर दूर है

इसमें से जहां तमाम वोटर पुराने ग्राम पंचायतों से कट कर दूसरे में जुड़ेंगे तो कई वोटर दूसरे व तीसरे और चौथे ग्राम पंचायतों से कटकर पहले ग्राम पंचायतों में जुड़ेंगे। इससे कई साल से राजनीतिक समीकरण बैठा रहे लोगों को गच्चा खाना पड़ सकता है। पंचायत चुनाव में ग्राम पंचायतों के चुनावी मैदान के योद्धाओं के लिए अपने रण की जमीन तैयार करने के लिए सिर्फ एक महीना बचा है। जैसे-जैसे ग्राम पंचायतों का कार्यकाल खत्म होने के दिन करीब आ रहे हैं वैसे वैसे ग्राम पंचायतों की कुर्सी पर बैठने को आतुर लोगों में हलचल व सक्रियता बढ़ने लगी है

ग्राम पंचायत तालड़ा व मारकपुर के मध्य 2 ग्राम पंचायत खरसनकी और फ़ाहरी आते हैं और उनकी सीमाएं इन के मध्य में आ रही हैं यह परिसीमन किस प्रकार किया गया यह एक अनसुलझी पहेली सा लग रहा है क्या यह राजनीति से प्रेरित कदम है

बहरहाल पंचायतों के नवीन परिसीमन से मारकपुर ग्राम निवासी हुए लामबंद किया सभी चुनावों का बहिष्कार का ऐलान। मारकपुर गांव को 10 किलोमीटर दूर तालड़ा ग्राम पंचायत में जोड़ने पर ग्रामवासी है नाराज

गोविंदगढ़ से अमित खेड़ापति 

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.