चांदपुर सहित नसेनिया गांव भी वायरल बुखार से संक्रमित

by News Desk
18 views

अमौली (फतेहपुर) :- जनपद के अमौली विकासखंड के अंतर्गत दर्जनों ग्राम पंचायतों में फैला वायरल बुखार जिसका उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमौली की टीम के द्वारा सकुशल रूप से चल रहा है| ग्राम पंचायत चांदपुर में कल बुधवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मैं डॉक्टर धर्मेंद्र चौधरी की उपस्थिति में 30 मरीज देखे गए|

10 मरीजों को मलेरिया डेंगू के लक्षण देखने पर स्लाइड जांच लेकर भेजी गई |डॉ धर्मेंद्र चौधरी ने बताया कि वही राहत बचाव के लिए आशा एवं एएनएम एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे तक जाकर पल-पल की जानकारी हम तक पहुंचाएगी| चांदपुर के साथ साथ समूचे विकासखंड में संक्रमण की यह बीमारी थमने का नाम नहीं ले रही है|

रोज नए नए गांव में बीमारी उभर कर आ रही है| रोटी न्योरी जलालपुर बाबूपुर नोनारा बुढवां लहुरी सराय टकौली में भी लोग पूर्व से इस बीमारी को झेल रहे हैं| ग्राम पंचायत नसेनिया में संक्रमण फैलने से फैली बीमारियों को रोकने के लिए।

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉक्टर पुष्कर कटियार के नेतृत्व और जिला मलेरिया अधिकारी के निर्देशन में स्वास्थ्य टीम ने प्राथमिक विद्यालय नसेनिया में स्वास्थ्य कैंप लगाकर 46 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया| एंटी लारवा दवा का छिड़काव भी संपूर्ण गांव की गलियों में कराया गया|

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ कटियार ने बताया कि देखे गए नसेनिया गांव के 46 मरीजों में 10 बुखार वह 36 मरीज सर्दी जुखाम बदन दर्द खुजली कमजोरी आदि के लक्षणों के मिले|पांच मरीजों का मलेरिया स्लाइड से परीक्षण भी किया गया इसके साथ साथ लगभग 250 घरों का घर-घर सर्वे भी कराया गया|


नसेनिया ग्राम पंचायत के ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर आरोप लगाते हुए कहा ग्राम प्रधान द्वारा गांव में साफ सफाई का कोई ध्यान पूरे पांच वर्षों में क्षणभर नहीं दिया गया| जिसके कारण संक्रमित बीमारी ने पूरे गांव को अपने आगोश में ले लिया है| अगर इस पर समय रहते ग्राम प्रधान ने नालियों एवं सड़कों की साफ-सफाई पर ध्यान दिया।

होता समय-समय पर कीटनाशक दवाओं का छिड़काव तथा एंटी लारवा का छिड़काव कराया होता तो गांव आज महामारी की चपेट में शायद नहीं आता| शासन प्रशासन मच्छरों से निपटने के लिए कीटनाशक दवाओं एवं फागिंग मशीन से छिड़काव का निर्देश भी जारी करता रहता है| परंतु सभी गांव के कर्णधार प्रधान कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराना उचित नहीं समझते |ऐसे ही हालातों में अक्सर बीमारी और महा मारी अपने आप प्रकट हो जाती हैं|


सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक डॉ पुष्कर कटियार ने गांव के लोगों से अपील करते हुए कहा कि अनावश्यक बरसात के पानी को पुराने टायर गड्ढे और और अन्य जगहों में ना जमा होने दें| साफ सफाई का विशेष ध्यान दें जिससे ऐसी संक्रमित बीमारियों से बचा जा सके|

Related Posts