NEWS KRANTI
Latest News In Hindi

जल निगम की लापरवाही की सजा भुगत रहे ग्रामीण

हमीरपुर (उत्तर प्रदेश)::-सरकार लाख कोशिश करे। करोङो खर्च करने के बावजूद सरकार के नुमाइंदे सरकार की मंशा पर पानी फेरने में कोई कसर नही छोड़ रहे है। जिले का सबसे पिछड़ा क्षेत्र भेंडी डांडा जो कि लोग माँ माहेश्वरी के धाम से जानते है।

हमीरपुर व जालौन के बॉर्डर में बसा गांव आज भी यहां के लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। इस गांव में दो ट्यूबबेल व लगभग 20 वर्ष से पानी की टंकी भी है। किंतु एक वर्ष से गांव के 90 प्रतिशत लोग आज भी पानी के लिए तरस रहे है। गांव में पुरानी लाइन के चलते जर्जर हो गयी व मेन लाइन चोक हो जाने के कारण ग्रामीणों को पानी नही मिल पा रहा है। जब कि ग्रामीणों ने सम्पूर्ण समाधान दिवस सरीला में प्रार्थना पत्र भी दिया था किंतु आज तक समस्या का समाधान भी नही हुआ और प्रार्थना पत्र को जल निगम के अधिकारियों के द्वारा ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। जल निगम की उदासीनता के कारण कोई देखने तक नही आया। ग्रामीणों ने बताया कि विभाग ने कनेक्सन तो कर दिए किन्तु पानी नही मिलता जिससे गंभीर समस्या बनी हुई है।

जबकि सरकार पानी के लिए करोङो रुपये खर्च करती है लेकिन सरकार के नुमाइंदे सरकार की मंशा में पानी फेरते नजर आते है विभाग जानकर भी अनजान बना हुआ है विभाग की लापरवाही के कारण यहां के लोग पुरापाषाण काल के तरीके अपनी जिंदगी बिताने को मजबूर है। वही पर 10 वर्ष से जल निगम की मजदूरी करने वाले मुन्नीलाल अहिरवार ने आरोप लगाया कि मुझे लगभग 10 वर्ष हो गए जल निगम का कार्य करते हुए किन्तु मेरी मजदूरी ही नही दी गयी है। जिससे मैं व मेरे बच्चे भूखमरी की कगार में है।

  • रिपोर्ट- रामसिंह राजपूत

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.