जिंदगी के अंतिम दिनों में अपने ही बेटे से परेशान हैं त्रिलोक

by News Desk
17 views

कौशाम्बी:- जिसे पाल पोस कर तिलोक प्रसाद ने बड़ा किया था। जिंदगी के अंतिम पड़ाव में वही बेटा उनकी जान का दुश्मन बन चुका है। जिससे त्रिलोक प्रसाद के सामने मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है।

Advertisements

जानकारी के मुताबिक मंझनपुर थाना क्षेत्र के घना का पुरवा मजरा भड़ेसर निवासी त्रिलोक प्रसाद पुत्र कंधई लाल उम्र लगभग 65 वर्ष के चार बेटे हैं। जिनमें सभी की शादी हो चुकी हैं। लेकिन वह अपने एक बेटे मस्तराम तथा उसकी पत्नी मालती देवी से त्रिलोक प्रसाद पीड़ित हो चुके हैं।

त्रिलोक प्रसाद का कहना है। कि कई वर्षों से मेरा बेटा मस्तराम और उसकी पत्नी मालती देवी मुझे मारते पीटते गाली गलौज करते हैं। त्रिलोक प्रसाद ने कहा कि उसके बेटे मस्तराम का असामाजिक तत्वों से मेलजोल है। बेटे बहू के आचरण से त्रस्त त्रिलोक प्रसाद ने अपने बेटे मस्तराम और उसकी पत्नी को अपनी समस्त संपत्ति से बेदखल करने का निर्णय कर लिया है।

और उन्होंने थाना अध्यक्ष से लेकर पुलिस अधिकारियों मुख्यमंत्री जिला अधिकारी को पत्र भेजकर बेटे और बहू पर परेशान करने और फर्जी मुकदमे में फंसाने की धमकी देने की शिकायत की है।

अपनी बहू पर उन्होंने बदचलन और शातिर होने का भी आरोप लगाया उनका कहना है। कि उनकी बहु कई असामाजिक तत्वों से मेलजोल रखती है। जिसके चलते वह कभी भी मेरी हत्या करा सकती है।

रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

Related Posts