गुजरात सरकार ने शहर और कस्बों में स्थित बूचड़खानों में तीन सितंबर से शुरू हो रहे जैन त्योहार पर्युषण के दौरान कामकाज बंद रखने की अपील की है।श्रमण डॉ. पुष्पेन्द्र ने दिनांक 9अगस्त को मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को लिख़े पत्र में उनसे यह माँग की थी जिस पर शहरी विकास व शहरी गृहनिर्माण विभाग के संयुक्त सचिव आनंद जिंझाला ने 18 अगस्त को आदेश ज़ारी किया।

जारी आदेशानुसार राज्य के सभी नगर निकायों- संबंधित अधिकारियों को दिनांक 3 सितंबर से 10 सितंबर तक बूचड़खाने बंद रखवाने का आदेश दिया गया है। इससे पूर्व जीव जंतु कल्याण बोर्ड (गुजरात सरकार) के सदस्य राजेंद्र शाह ने भी राज्य की सभी निकायों को पत्र लिखकर यह यह माँग की थी।

उल्लेखनीय है कि पर्युषण जैन सम्प्रदाय का सबसे महत्वपूर्ण महापर्व है। इस दौरान उपासक उपवास रखते हैं, प्रार्थना और ध्यान करते हैं।गौरतलब है कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी जैन सम्प्रदाय से हैं।

श्रमण डॉ. पुष्पेन्द्र ने सकल जैन समाज की और से संवेदनशील मुख्यमंत्री का इस ऐतिहासिक निर्णय पर आभार व्यक्त किया व अहिंसा प्रेमियों से आह्वान किया कि गुजरात राज्य में इस आदेश की पालना सुनिश्चित करवाएँ।