नयी दिल्ली। दिल्ली हवाई अड्डे के अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल पर व्यस्त समय में भीड़भाड़ से निपटने के लिए नया ‘पैसेंजर ट्रैकिंग सिस्टम’ (पीटीएस) लगाया गया है।

दिल्ली अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा लिमिटेड (डायल) ने सोमवार को बताया कि उसने हवाई अड्डे के टर्मिनल-3 पर एक्सओविस का पीटीएस सॉफ्टवेयर लगाया है जिससे किसी भी समय हवाई अड्डे के किस क्षेत्र में कितने यात्री हैं और यात्रियों को कितना इंतजार करना पड़ रहा है, इसकी रीयल टाइम जानकारी मिलती रहेगी। जहाँ भीड़ बढ़ेगी और इंतजार का समय लंबा होगा वहाँ के बारे में संबंधित टीम को अलर्ट मिल जायेगा ताकि वे प्रक्रिया में तेजी लाकर भीड़ कम कर सकें। साथ ही, यात्रियों को जगह-जगह लगे मॉनिटरों पर यात्रियों को भी पता चलता रहेगा कि हवाई अड्डे पर प्रवेश से लेकर बोर्डिंग तक किसी प्रक्रिया में कितना समय लग रहा है।

टर्मिनल-3 दिल्ली हवाई अड्डे का अंतर्राष्ट्रीय टर्मिनल है। प्रस्थान खंड के अलावा आगमन खंड में भी आव्रजन प्रक्रिया क्षेत्र में पीटीएस लगाया गया है। पीटीएस के लिए प्रस्थान क्षेत्र के सभी आठ प्रवेश द्वारों, सभी चेकइन काउंटरों, सुरक्षा जांच क्षेत्र और आव्रजन क्षेत्र में टर्मिनल की छतों पर सेंसर लगाये गये हैं। सेंसर हर यात्री के लिए स्क्रीन पर एक बिंदु बनायेगा। इस प्रकार किस क्षेत्र में कितने यात्री हैं और किस रफ्तार से प्रक्रिया पूरी हो रही है इसकी जानकारी मिलती रहेगी।

जिस क्षेत्र में भीड़ बढ़ेगी वहां पहले संबंधित टीम को अलर्ट भेजा जायेगा। यदि 10 मिनट के भीतर भीड़ कम नहीं हुई तो प्रबंधन में शामिल उच्चाधिकारियों के पास अलर्ट जायेगा। डायल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विदेह कुमार जयपुरियार ने कहा कि एक्सोविस पीटीएस से टर्मिनल पर इंतजार का समय कम होगा। साथ ही, सामाजिक दूरी बनाये रखते हुये यात्रियों के सुगम प्रबंधन में भी मदद मिलेगी।

वार्ता