NEWS KRANTI
Latest News In Hindi

दुल्हन चली ससुराल,एक नई पहल

अलवर (राजस्थान):-:दरअसल हिन्दू शादी संस्कृति में तेल बिंदोरी एक रस्म होती है। बेशक अलग अलग राज्यों में भाषाओं के आधार पर रस्म को अलग अलग नामों से जाना जाता हो लेकिन शायद अर्थ एक ही होता है। एक परिवार का इस रस्म को कुछ अलग हटकर करने का मूल उद्देश्य यही रहा कि आमखास बेटा-बेटी को लेकर नजरिया एक ही रखे और बेटी को यह कभी अहसास नहीं होने दे की वह बेटी है, कमजोर है बल्कि बेटी का मनोबल बढ़ाकर उसे यह विश्वास दिलाए की वह भी बेटा ही है।

सूर्य नगर निवासी ममता पुत्री बाबूलाल जाटव की बड़ी बहन पिंकी पत्नी ब्रजमोहन ने ममता को घोडीपर बैठाकर तेल बिंदोरी निकाल कर कुछ अलग ही सन्देश देने का प्रयास किया है।ममता इंजीनियरिंग में डिप्लोमा ले चुकी है और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही है।ममता 19 नवंबर को अपने बाबुल से विदा लेकर पति रेलवे में लॉकों पायलट रघुवीर के साथ अपने ससुराल महुआ तहसील के एक गांव में चली जाएगी।

विशेष खबर राजीव श्रीवास्तव

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.