गोंडा:- जिले में एक रोचक मामला सामने आया है। यहां बारात से विदा होकर दुल्हन ससुराल नहीं गई। वह सीधे सरकारी नौकरी का सर्टिफिकेट लेने काउंसिलिंग सेंटर पहुंची। यहां से प्रमाण पत्र मिलने के बाद ही वह अपने पति के साथ ससुराल गई। इसके बाद वहां की रस्में पूरी हुईं।

गाेंडा में रहने वाली प्रज्ञा तिवारी की शादी दो दिसम्बर को थी। शादी के दूसरे दिन ही उसे बाराबंकी जिले से गोंडा में काउंसलिंग कराने भी आना था। ऐसे में शादी की रस्मो रिवाज को सुबह सबेरे पूरा करने के बाद विदाई से पहले प्रज्ञा गोंडा काउंसलिंग कराने पहुंची। मेंहदी रचे हाथ व दुल्हन के मेकअप में पहुंची प्रज्ञा पर ही सबकी नजरें थीं। प्रज्ञा का कहना है कि उसके लिए कॅरियर ज्यादा मायने रखता है इसलिए वह शादी के बाद ससुराल ना जाकर सीधे काउंसलिंग के लिए आई। प्रज्ञा का कहना है कि पति उसके लिए बहुत लकी चार्मिंग है।उसकी जिंदगी में आने के बाद ही उसको नौकरी मिल गई। प्रज्ञा ने सभी पेरेंट्स से अपील की है कि वह सभी अपने बेटियों को खूब पढ़ाएं ताकि वह सेल्फ डिपेंडेंट हो सके। प्रज्ञा ने अपने इस मुकाम तक पहुंचने का श्रेय अपने मम्मी-पापा को दिया। गाेंडा के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने  प्रज्ञा को बधाई देते हुए कहा कि यह बड़ी बात है कि कल शादी हुई और आज नौकरी लग गई। 

रिपोर्ट राहुल तिवारी जिला संवाददाता गोंडा