राजगढ़ (मध्य प्रदेश):- राजगढ़ जनपद थाना पचोर
आपको बता दें कि नाबालिक अपहर्ता को किया दस्तयाब ओर आरोपी को किया माननीय न्यायालय में पेश।
उल्लेखनीय है कि दिनांक 27/02/21 को फरियादी ने थाना आकर रिपोर्ट दर्ज कराई की मेरी लड़की दिनांक 26/02/21 को मोहल्ले की औरतों के बुलाने पर गीत गाने के लिए गई थी।
उसके बाद फिर रात्रि 11:00 बजे तक नहीं आई तो गांव मैं ढूंढा गया गांव में ढूंढने पर भी नहीं मिली।
मामला कुछ इस प्रकार है की विक्रम नट, के घर पर उसके साले का लड़का विजय, तीन दिन पहले से आया हुआ था। वह भी विक्रम नट,के घर पर नहीं था, तथा विजय नायक, मेरी लड़की से फोन पर बात भी करता था, जो मेरी नाबालिक लड़की ज्योति, को बहला-फुसलाकर भगा कर ले गया है।
आपको बता दें कि फरियादी की रिपोर्ट पर थाना पचोर में संदेही विजय नायक, पिता कैलाश नायक, ग्राम बगावत जिला आगर, के विरुद्ध अपराध क्रमांक 91/21 धारा 363 भादवी का मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
नाबालिक के अपहरण के मामले की गंभीरता को संज्ञान में लेकर जिला पुलिस अधीक्षक, द्वारा एसडीओपी सारंगपुर, एवं थाना प्रभारी पचोर, को नाबालिक लड़की की दस्तयाबी हेतु अथक प्रयास करने हेतु निर्देशित किया गया।
एसडीओपी सारंगपुर, व थाना प्रभारी पचोर, के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा अपह्त नाबालिक लड़की की तलाश प्रारंभ की गई।
अथक प्रयासों के चलते हर छोटी से छोटी सूचना पर मूवमेंट किया गया,जिससे पुलिस टीम को सफलता हासिल हुई।
आपको बता दें कि दिनांक 03/03/21 को पुलिस को सूचना प्राप्त हुई, की पुलिस द्वारा लगातार दबिश व शिकंजा कसने से घबराकर आरोपी विजय नायक, कहीं जाने के लिए मां दयालु मंदिर पचोर, के पास खड़ा है। विजय नायक, नाबालिक अपह्ता ज्योति, को परिजनों से दूर कहीं दूसरी जगह ले जाने के लिए बस के इंतजार में खड़ा था। पुलिस टीम द्वारा तत्काल मौके पर दबिश देकर आरोपी विजय नायक, निवासी बगावत जिला आगर, के कब्जे से नाबालिक लड़की को दस्तयाब किया, व नाबालिग लड़की के बयानों के आधार पर प्रकरण में धारा 366, 376, भादवी 3/4 पास्को एक्ट का इजाफा कर आरोपी को माननीय न्यायलय पेश कर जेल भेजा गया।
उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी पचोर निरीक्षक डी.पी. लोहिया,उनि.धर्मवीर पलैया,उनि.भूरी भील,आर. मोहनसिंह,आर.दिनेश किरार,आर.अर्जुन,आर. अक्षय,म.आर.प्रियंका,का सराहनीय योगदान रहा।

रिपोर्ट कमल चौहान