राजगढ़ (मध्य प्रदेश):- राजगढ़ जनपद थाना बोड़ा
महीला संबंधी मामलों में अपराधियों की धरपकड़ करने हेतु जिला पुलिस अधीक्षक, द्वारा समस्त थाना प्रभारियों, को लगातार निर्देशित किया जा रहा है। जिसके पालन में एसडीओपी नरसिंहगढ़ भारतेंदु शर्मा, के मार्गदर्शन में एवं थाना प्रभारी अर्जुन सिंह मुजाल्दे, के नेतृत्व में बोड़ा पुलिस द्वारा अपहरण के मामले में आरोपी हरिओम जाटव, उर्फ मामा जाटव, निवासी बोड़ा, को तकनीकी विवेचना एवं अथक प्रयासों से गिरफ्तार किया व अपह्रता को दस्तयाब किया गया है।
मामला कुछ इस प्रकार है कि दिनांक 30/03/2021 को फरियादी ने अपनी पत्नी के साथ थाने पर आकर रिपोर्ट दर्ज कराई और बताया कि उसकी लड़की किसी काम का बोलकर घर से कहीं चली गई है।
आपको बता दें कि फरियादी को संदेह था कि उसकी लड़की को कोई अज्ञात व्यक्ति बहला-फुसलाकर भगा ले गया है।
फरियादी की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 68/21 धारा 363 भादवि का कायम कर विवेचना में लिया गया।
विवेचना के दौरान अपह्रता व आरोपी की तलाश की गई किन्तु आरोपी स्वयं को लगातार छिपा रहा था, और पुलिस की गिरफ्त से बाहर था।
पुलिस के अथक प्रयास से अपह्रता को दस्तयाब तथा आरोपी को पकड़ने में कामयाबी प्राप्त हुई है।
पीड़िता के कथन व मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आरोपी के विरुद्ध धारा 366, 376,(2एन) भादवी व 8/7 पास्को एक्ट का इजाफा किया गया।
आरोपी को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय पेश किया गया है।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी अर्जुन सिंह मुजाल्दे,उनि धरमवीर सिंह पलैया, आरक्षक 382 विरेंद्र रावत, आरक्षक 284 प्रवीण यादव, आरक्षक 829 पंकज जाट, महिला आरक्षक 438 नीतू जयसवाल, की सराहनीय भूमिका रही।

रिपोर्ट कमल चौहान