Home StateUttar Pradeshkaushambi नाव की रखवाली करने गए मछुआरों को बंधक बनाकर मांगी गई एक लाख की फिरौती

नाव की रखवाली करने गए मछुआरों को बंधक बनाकर मांगी गई एक लाख की फिरौती

by nikhil
10 views

कौशांबी :- कोतवाली क्षेत्र के बड़ा गढ़वा गांव के राज नारायण 25 , नरोत्तम 30, सुनील 22 पुत्र विशाल, राम यश 50 पुत्र लल्लू, जितेंद्र 25 पुत्र शिवदास यह लोग अपनी नाव की रखवाली के लिए कल शुक्रवार शाम यमुना के किनारे गए थे। लेकिन वहां पर पहले से ही घात लगाए बैठे कुछ गुंडे किस्म के बदमाश बैठे हुए थे।


पीड़ितों के अनुसार जैसे ही घाट पर पहुंचे बदमाशों ने इन्हें पकड़ लिया और नाव में बिठाकर यमुना के उस पार गांव बरवार थाना मऊ जनपद चित्रकूट लेकर गए और वहां बोट से उतार कर मारपीट शुरू कर दिया। पीड़ितों के पूछने पर बताया कि हम लोग पुलिस वाले हैं।

यमुना में इस समय मछली मारना मना है इसके बाद भी तुम लोग मछली मार रहे हो यह कहकर मारना पीटना शुरू किया। और कहा कि तुम्हारी चालान करेंगे। पीड़ितों ने पुलिस का नाम सुनकर घबरा गए और मिन्नतें करने लगे। इस पर बदमाशों ने ₹1लाख की रकम देने को कहा। किसी तरह मामला 20हजार में तय हो गया।

पीड़ितों के पास 3हजार नकद मौजूद था। 3 देकर बाकी के ₹17हजार घर से मंगवाने के लिए परिजनों को फोन किया। और बताया कि हमें पुलिस ने पकड़ लिया है 17 हजार लेकर आओ तब हम लोग छूटेंगे। परिजनों ने कौशांबी थाने से संपर्क किया तो मालूम हुआ कि कौशांबी पुलिस नहीं है। परिजनों ने थाना मऊ जनपद चित्रकूट से फोन के माध्यम से संपर्क किया तो वहां भी बताया गया कि यहां की पुलिस नहीं है।


इतने में बदमाशों को सूचना मिल गई कि मऊ थाने की पुलिस आ रही है। बदमाशों ने सबको नाव में बिठाकर वापस जोगापुर पंप कैनाल थाना कौशांबी घाट पर आ गए कौशांबी पुलिस ने जाल बिछा कर रखा था जैसे ही अपहरणकर्ता आए पुलिस ने दबोच लिया।

और पीड़ितों को सकुशल अपहरण कार्यकर्ताओं के चंगुल से छुड़वा लिया। और अपहरणकर्ताओं को पुलिस थाने उठा लाई।
कल रात 9 बजे इस संबंध में कौशांबी कोतवाल हेमराज सरोज से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि इस संबंध में मुझे कोई जानकारी नहीं है।
जबकि अपहरणकर्ता थाने के लॉकअप में मौजूद थे।


रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

You may also like