Home StateMadhya PradeshIndore पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की पति की हत्या

पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर की पति की हत्या

by nikhil
11 views

इंदौर :- नीमच पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार राय के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री सुन्दर सिंह कनेश, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस मनासा श्री संजीव मुले के मार्गदर्शन एवं थाना प्रभारी कुकडेंश्वर निरीक्षक के.सी.चैहान के नेतृत्व में पुलिस टीम द्वारा दिनांक 27.7.2020 की रात्रि ग्राम बच्चाखेडी थाना कुकडेंश्वर में हुए दिलीप औढ़ की हत्या का पर्दाफाश करते हुए मृतक की पत्नी ज्योति औढ़ एवं उसके प्रेमी गोविन्द औढ़ को गिरफ्तार करने सफलता प्राप्त की गई है।


घटना का संक्षिप्त विवरण-
दिनांक 27.7.2020 को डायल-100 पर ग्राम बच्चाखेडी मे दिलीप औढ की मारपीट कर हत्या करने के सबंध मे ईवेन्ट प्राप्त हुआ। इवेन्ट पर से उनि मोहनलाल नागदा रवाना होकर घटना स्थल ग्राम बच्चाखेडी पहुचें जहा पर फरियादिया ज्योति पति दिलीप औढ़ उम्र 28 साल निवासी बच्चाखेडी थाना कुकडेश्वर द्वारा रिपोर्ट की गई कि उसका पति गोपाल बाछडा निवासी तलाऊ के यहा मजदुरी करता था।

ग्राम के शकंरलाल औढ की लडकी भावना तलाऊ के नितेश बाछडा के साथ चली गई थी, जिस पर से शंकरलाल औढ व नेतालाल औढ रंजीश रखते थे, इसी के कारण दिनांक 27.07.2020 की रात्रि में करीब 11 बजे फरियादिया का पति दिलीप औढ पेशाब करने के लिये बाहर निकला तो कुछ देर बाद शंकरलाल औढ तथा नेतालाल औढ घर के अन्दर आये ओर मेरे दोनो हाथ रस्सी से बांध दिये तथा चिल्लाचोट करने पर सास पुष्पाबाई को बुलाने पर दोनो भाग गये।

तब देखा कि बगल वाले कमरे की डेली पर पति दिलीप की लाश खुन से लथपथ होकर पडी होकर शंकरलाल औढ तथा नेतालाल औढ ने रंजीश रखते हुए पति दिलीप औढ की गला काटकर हत्या करने के सबंध मंे रिपोर्ट किये जाने पर आरोपी शंकरलाल औढ तथा नेतालाल औढ निवासी बच्चाखेडी थाना कुकडेंश्वर के विरूद्ध थाना कुकडेश्वर पर अपराध क्रमाक 126/2020 धारा 302,450,34 भादवि का कायम कर विवेचना मे लिया गया।


विवेचना के दौरान की गयी कार्यवाही
विवेचना के दौरान घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण कर घटना स्थल पर से खुन आलुदा मिट्टी, मृतक के मकान के बगल मे बनी बाथरूम में एक खुन लगा हुआ पत्थर एवं पत्थर के निचे मृतक की खुन लगी हुई टी-शर्ट तथा एक की-पेड मोबाईल मिट्टी में दबा हुआ मिलने पर विधीवत जप्त किया गया। उक्त घटना मे फरियादीया द्वारा रिपोर्ट में बताई गई।

जानकारी पर संदेह होने से मृतक के बाथरूम से जप्त मोबाईल की तकनिकी जांच करते एवं मृृतक के मोबाईल नम्बर की प्राप्त जानकारी का गहनता से विश्लेषण करने पर पाया गया कि फरीयादिया व्दारा घटना के समय कमलेश रावत निवासी अक्यापुर भदा थाना गरोठ से बातचीत की गई है। उक्त पर से कमलेश रावत के कथन लेते बताया गया कि ज्योति औढ ने फोन पर कहा कि उसके पति दिलीप की मृत्यु हो गई है, विष्णु को बता देना।

प्रकरण में फरियादी महिला ज्योती औढ के मोबाईल नम्बर की जानकारी प्राप्त करने पर पाया गया कि घटना के पूर्व दिनांक 22.07.2020 को पडोस के गोविन्द औढ से फरियादी ज्योति औढ़ काफी बातचित हुई है। प्रकरण में मूखबिर द्वारा भी ज्योति औढ पर शंका जाहिर किये जाने पर मृतक के लडके सन्दीप से घटना के संबंध मे काफी समझबुझ के साथ जानकारी लेने पर सन्दीप द्वारा बताया गया कि रात में कमरे के अन्दर पलंग पर पापा दिलीप सौ रहे थें।

तभी गांव का गोविन्द औढ तथा मम्मी ज्योति औढ ने चाकु तथा कुल्हाडी से पापा के गले में चोट पहुॅचाकर मार दिया तथा गोविन्द भाग गया एवं मम्मी ने पापा दिलीप को घसीटकर बगल वाले कमरे में डाल दिया एवं कपडें से जमीन पर लगा खुन साफ कर दिया तथा शंकरलाल औढ एवं नेतालाल औढ के नाम लेने हेतु मम्मी ने कहा था। मृतक के लड़के संदीप औढ़ के धारा 164 जा. फो. के तहत माननीय न्ययालय के समक्ष कथन कराये गये।

मृतक के लड़के संदीप औढ के द्वारा दिये गये कथनों के आधार मृतक की पत्नी ज्योति औढ उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम बच्चाखेड़ी से कड़ी पूछताछ करते ज्योति औढ द्वारा जानकारी दी गई कि में पडोस रहने वाले गोविन्द औढ से करीब 03 साल से प्रेम सबंध होकर गोविन्द और मेरे प्रेम संबंधों का दिलीप औढ को पता चलने से दिलीप व्दारा आये दिन उक्त बात को लेकर शराब पीकर गाली गलोच एवं झगड़ा करता रहता था। गोविन्द और हमारे घर गांव में ही पास पास होने से मेने एवं गोविन्द ने दिनांक 22.07.2020 को मोबाईल के माध्यम से आपस में बात कर पति दिलीप द्वारा आये दिन मारपीट करने संबंधी बात की जाकर पति दिलीप को जान से मारने की योजना बनाई।

योजना अनुसार दिनांक 27.07.2020 की रात्रि करीब 10ः00 बजे अपने प्रेमी गोविन्द औढ निवासी बच्चाखेडी के साथ मिलकर दिलीप औढ की कुल्हाडी एवं चाकु से गले मे चोटे पहुचाकर हत्या कर दी तथा लाश को पास वाले कमरे की डेली मे डाल दिया और जमीन पर पडा हुआ खुन कपडे से साफ कर खुन लगे हुऐ बिस्तर, हत्या में प्रयुक्त चाकू एवं कुल्हाड़ी छिपा दिये तथा अपने आप को बचाने के लिये पुर्व मे जिन लोगो से मृतक दिलीप औढ का विवाद चल रहा था, उन्हे झुठे केस मे फसाने के लिये रंजीशन प्रथम सुचना रिपोर्ट में शंकरलाल औढ तथा नेतालाल औढ के नाम दर्ज करा दिये।


प्रकरण में आरोपी महिला ज्योति पति दिलीप औढ उम्र 28 साल एवं आरोपी गोविन्द पिता कचरूलाल औढ उम्र 28 वर्ष निवासीगण बच्चाखेडी को दिनांक 31.07.2020 को गिरफ्तार किया जाकर घटना से संबंधित सभी साक्ष्यों को जप्त किया जाकर प्रकरण में विवेचना जारी है।
*पुलिस टीम* –
थाना प्रभारी कुकडेंश्वर निरीक्षक के.सी. चैहान, उनि मोहनलाल नागदा, उनि निलेश सोलकी, प्र.आर. ओमप्रकाश साखंला, आर.रूद्रप्रतापसिह, आर. भुरसिह ,आर. सुनील भुरिया, आर. लालबहादुर भाटी, आर. चालक राजेश तनान, म.आर. रेखा गुर्जर, म.आर. ज्योति प्रजापति, म.आर. सविता एवं सायबर सेल से प्रदीप शिन्दे का सराहनीय योगदान रहा।


पुलिस अधीक्षक श्री मनोज कुमार राय द्वारा प्रकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

रिपोर्ट राहुल वर्मा

You may also like