पाकिस्तान में वकीलों ने उच्च न्यायालय का किया घेराव

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में वकीलों ने विकास प्राधिकरण द्वारा अपने चैंबर्स को तोड़े जाने के विरोध में सोमवार को इस्लामाबाद उच्च न्यायालय का घेराव किया और जमकर तोड़फोड़ की ।

वकीलों ने मुख्य न्यायाधीश के दफ्तर का घेराव किया तथा उनके दफ्तर के शीशें तोड़ दिए। इस दौरान प्रदर्शनकारी वकीलों ने मुख्य न्यायाधीश अख्तर मिनाल्लाह के खिलाफ नारेजाबी की। डॉन अखबार ने प्रत्यक्षदर्शियों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में बताया कि जब प्रदर्शनकारी वकीलों ने उच्च न्यायालय परिसर में प्रवेश किया उस समय विशेष सुरक्षा विभाग की पुलिस के जवान मौजूद नहीं थे। पुलिसकर्मी काफी देर बाद मौके पर पहुंचे।

सुरक्षा कर्मियों ने मुख्य न्यायाधीश के दफ्तर वाले ब्लॉक से महिला कर्मचारियों को बाहर निकाला। स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिसकर्मियों तथा आतंकवाद-रोधी विभाग के अधिकारियों को भी तैनात किया गया है। इस दौरान प्रदर्शनकारी वकीलों की पुलिसकर्मियों के साथ कहासुनी भी हुई।

ये भी पढ़ें- हाथरस कांड : वकीलों और पक्षकारों को दिखाये जायेंगे आडियो विजुअल्स

वकीलों के प्रदर्शन के कारण न्यायालय की कार्यवाही निलंबित कर दी गयी तथा याचिकाकर्ताओं को न्यायालय परिसर में प्रवेश करने से रोक दिया गया।

न्यायाधीश मोहसिन अख्तर कियानी तथा बार एसोशिएशन के अध्यक्ष हासिब चौधरी ने प्रदर्शनकारी वकीलों से बातचीत के बातचीत के जरिए इस मामले को सुलझाने की अपील की है।

वहीं वकीलों का कहना है कि जब तक उनके चैंबरों को नहीं बनाया जाता तब तक वे बातचीत नहीं करेंगे। प्रदर्शनकारी वकीलों ने अपने कुछ सहयोगियों की गिरफ्तारी का भी दावा किया।

इन्पुट- यूनीवार्ता