कौशांबी :- पश्चिम शरीरा थाना क्षेत्र के बरुआ गांव निवासी चंद्र की पत्नी जगदीश नारायण को उनके पिता सत्यनारायण पुत्र राम विशाल ने अपनी संपत्ति दे दी थी। जिस चंद्र वती काबिज है। अब इन दिनों सत्यनारायण की उम्र अधिक हो चुकी है।

और उनके सोचने समझने की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। इसका फायदा उठाकर उन्हीं के रिश्तेदारों ने चंद्र वती के कब्जे की संपत्ति पर कब्जा करने का प्रयास शुरू कर दिया है।



पीड़ित महिला ने न्याय को लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाया इस संपत्ति पर अदालत में मुकदमा विचाराधीन है। लेकिन फिर भी दूसरे पक्ष के लक्ष्मीनारायण आदि जबरिया चंद्र वती के कब्जे की संपत्ति पर कब्जा कर रहे हैं।

जिससे चंद्र वती परेशान है, चंद्र वती का कहना है। कि पश्चिम सराय थानेदार की भूमिका भी सवालों के घेरे में है। और इस संपत्ति को लेकर उनकी दोहरी नीति से विवाद उत्पन्न हो सकता है।



रिपोर्ट श्रीकान्त यादव