प्रधान की शह से हल्का लेखपाल पंचायत भवन में कर रहे दारू पार्टी

by nikhil

कौशाम्बी :- उत्तर प्रदेश सरकार ग्रामीण इलाकों के विकास के लिए स्वीकृत धन लगातार ग्रामसभाओं में भेज रही है। ग्राम प्रधान, सेक्रेटरी घोटाला करने से बाज नहीं आ रहे हैं। घोटालेबाजों की मनमानी व रिश्वत खोरी से गांवों का विकास नहीं हो पा रहा है।
ग्रामीण क्षेत्रों के विकास कार्यों में घोटालेबाजों के साथ हल्का लेखपाल की संलिप्तता रहती है।

जनपद कौशाम्बी के सिराथू तहसील के ब्लॉक कड़ा के अंतर्गत ग्रामसभा भैरावा के पंचायत भवन में आगामी प्रधानी चुनाव की तैयारी होते ही वर्तमान प्रधान ने भूमिहीनों को पट्टा आवंटन के लिए एक अक्टूबर को ग्रामीणों व सदस्यों की खुली बैठक बुलाई।

बैठक में ग्यारह सदस्यों में से मात्र दो ही सदस्य आए। प्रधान व लेखपाल सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते दिखे। बैठक का बहिष्कार होते ही झल्लाए डयूटी पीरियड में लेखपाल ने नशे में धुत बेखौफ मीडिया के सामने एक सदस्य को गाली गलौज तक कर डाली।

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि प्रधान व लेखपाल आए दिन पंचायत भवन में दारू पार्टी कर पात्रों को योजनाओं का लाभ देने के लिए दबंगई से अवैध धनउगाही करते हैं। पात्रों से रुपए नहीं मिलने पर अपात्र चहेतों को योजनाओं का लाभ दे दिए गए हैं।

लोगों ने बताया कि कई बार इनके द्वारा किए गए विकास कार्यों में शासन द्वारा स्वीकृत सरकारी धन का दुरुपयोग व भ्रष्टाचार की शिकायत जिला प्रशासन व माननीय मुख्यमंत्री से की गई लेकिन आजतक कोई भी सक्षम अधिकारी भैरावा गांव में हुए भ्रष्टाचार की जांच करने के लिए नहीं आए। जिससे भ्रष्टाचारीयों के हौसले बुलंद हैं।


रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

Related Posts