Home StateRajsthanBhilwara प्रधान के घर फरियाद लेकर जाने वालों को मारा जाता है चप्पल

प्रधान के घर फरियाद लेकर जाने वालों को मारा जाता है चप्पल

by vaibhav
11 views

भीलवाड़ा(बनेरा):- जब गांव में प्रधानी के चुनाव होते हैं , तो प्रधान जनता को भगवान का रूप बोलते हैं। लेकिन जब एक बार कोई चुनाव जीतकर सरपंच बन जाता है। तो वही जनता जब एक सरपंच का हस्ताक्षर लेने जाती है तो उसके साथ क्या सलूक होता है आज वह एक वीडियो में देखने को मिला मामला राजस्थान के भीलवाड़ा जिले के बनेरा गांव का है।

सरपंच के घर पर साइन करवाने के लिए जाना पड़ा महंगा, जब पंचायत हेड क्वार्टर पर बार बार चक्कर काटने पर भी सरपंच नहीं मिलने पर सरपंच के घर फार्म पर साइन करवाने के लिए गया युवक पर टूट पड़ी एलडीसी एकता शर्मा आखिर कब तक सहन करना होगा खेडलिया पंचायत की जनता को ।


यह जो औरत वीडियो में दिखाई दे रही है बदतमीजी कर रही है यह बनेड़ा पंचायत समिति में एलडीसी है जबकि खेड़लिया ग्राम पंचायत में यह फूल दखलअंदाजी करती है और सभी कार्य भार इसी ने संभाल रखा है सरपंच वर्तमान सरपंच केवल नाम मात्र का सरपंच है सभी कार्य सरपंच सचिव और दूसरे सभी कार्य यही औरत करती है खेडलिया ग्राम पंचायत के सरपंच पद पर श्रीमती नेहा शर्मा है जोकि केवल नाम मात्र से है बाकी सारा कार्यभार लक्ष्मी लाल शर्मा एवं उसकी पत्नी एकता शर्मा जो खेडलिया ग्राम पंचायत में एलडीसी के पद पर है जिससे सारी जनता परेशान है और पंचायत लेवल का कोई भी काम होता है पब्लिक उनके पास पहुंचती है तो वह लोगों पर इस तरह बादल की तरह गरज पड़ती है इसलिए जनता नागरिक परेशान है एक साइन करवाने के लिए लोगों को महीने भर तक चक्कर लगाना पड़ता है तब तक उस डॉक्यूमेंट की वैलिडिटी खत्म हो जाती है सबसे पहले पंचायत हेड क्वार्टर पर पब्लिक आती है तो वहां नहीं मिलते हैं सरपंच उसके बाद उसके गांव जाते हैं वहां पर भी नहीं मिल पाते हैं फिर तीसरा निवास भीलवाड़ा है एक साइन के लिए भीलवाड़ा आते हैं तो लोगों को क्या सुनने को मिलता है जो हम कभी कह नहीं सकते हैं घर के अंदर दरवाजा लॉक करके आराम से ऐश करते हैं कब तक लोगों पर ऐसे बादल की तरह गरजती रहेगी एकता शर्मा आखिर कब तक सहना पड़ेगा नागरिकों को ऐसा अभद्र व्यवहार ? सज्जन सिंह दरोगा s/o कंवर लाल जी
गांव गणेशपुरा ग्राम पंचायत खेड़लिया पंचायत समिति बनेड़ा का रहने वाला है
जिसको की राशन कार्ड में बच्चे का नाम जुड़वाने के लिए और खाद्य सुरक्षा का फॉर्म में साइन करवाने के लिए सरपंच के पास गए खाद्य सुरक्षा के फॉर्म में पटवारी और सचिव के दस्तखत पहले से ही करवा रखे हैं जहां ग्राम पंचायत हेड क्वार्टर पर सरपंच नहीं मिले तो कालसास गांव गए उसके बाद में वहां नहीं मिले तो हाल मुकाम भीलवाड़ा गए जहां पर भूतपूर्व सरपंच की पत्नी और हाल ही में बनेड़ा में कार्यरत एलडीसी ने अभद्रता से व्यवहार किया उनके साथ इस तरह से बदतमीजी से बात की गई गाली गलौज की गई और मारपीट की गई।

You may also like