NEWS KRANTI
Latest hindi News Website

- Advertisement -

- Advertisement -

फिरोजाबाद जिला प्रशासन की बड़ी लापरवाही, मोबाइल की रोशनी में हुआ शहीद का अंतिम संस्कार

30

अंतिम संस्कार से पहले परिजनों ने जमकर हंगामा किया और संस्कार करने से इनकार कर दिया था शहीद के परिवार की मांग थी कि सरकार उन्हें मुआवजा के साथ साथ बेटे को नौकरी और पत्नी को एक पेट्रोल पंप आवंटित किया जाए ।

फिरोजाबाद. बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय बार्डर पर शहीद हुए बीएसएफ (BSF) के हेड कांस्टेबल विजयभान यादव का पार्थिव शरीर शनिवार को उनके गांव चमरौली पहुंचा. गांव में पार्थिव शरीर पहुंचते ही कोहराम मच गया वहीं अंतिम संस्कार के दौरान जिला प्रशासन की बड़ी लापरवाही देखने को मिली, जहां घाट पर लाइट का इंतजाम न होने के कारण शहीद का अंतिम संस्कार मोबाइल की रोशनी में करना पड़ा वहीं शहीद के अंतिम संस्कार के दौरान जिला प्रशासन के अधिकारी समेत जन प्रतिनिधि मौजूद थे इससे पहले शहीद जवान विजयभान यादव को गार्ड ऑफ आनर दिया गया ।

अंतिम संस्कार से पहले परिजनों ने जमकर हंगामा किया और संस्कार करने से इनकार कर दिया था शहीद के परिवार की मांग थी कि सरकार उन्हें मुआवजा के साथ साथ बेटे को नौकरी और पत्नी को एक पेट्रोल पंप आवंटित किया जाए अंतिम संस्कार स्थल पर पहुंचे जिलाधिकारी ने परिजनों को लिखित में भरोसा दिया तब जाकर परिजनों ने अंतिम संस्कार किया. वहीं घाट पर अव्यवस्थाओं का आलम देखने को मिला जहां मोबाइल की रोशनी में शहीद का अंतिम संस्कार किया गया ।

- Advertisement -

बता दें कि 17 अक्टूबर को पश्चिम बंगाल में बांग्लादेश सीमा पर बार्डर गार्ड ऑफ बांग्लादेश (बीजीबी) की टीम द्वारा पीछे से की कई फायरिंग में बीएसएफ की 117 वीं बटालियन के हेड कांस्टेबल विजयभान सिंह यादव (52) शहीद हो गए थे, जबकि उनका साथी राजवीर घायल हो गया ।

संवाददाता::-सिद्धार्थ तिवारी फ़िरोज़ाबाद
न्यूज़क्रान्ति न्यूज़

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.