फ्रांस में लग सकती है पाकिस्तान और तुर्की के नागरिकों पर पाबंदी

by saurabh

ब्रसेल्स। यूरोपीय संसद (एमईपी) के फ्रांसीसी सदस्य जॉर्डन बर्डेला ने तुर्की, पाकिस्तान, कुवैत और कतर के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाने की मांग की है।

हाल के दिनों में एक के बाद एक कई आतंकवादी हमलों का निशाना बन चुके फ्रांस के बर्डेला का मानना था कि ‘यूरोपीय एकजुटता को मूर्तरूप’ देने के लिए इस तरह के प्रतिबंध आवश्यक हैं। उन्होंने कहा कि जैसा कि इन देशों को आतंकवाद का समर्थन करने के लिए माना जाता है इसलिए उनके खिलाफ ‘वास्तविक वित्तीय या व्यापार प्रतिबंध’ लगाया जाना चाहिए।

पिछले महीने के दौरान फ्रांस में चार्ली हेब्दो के पैगंबर मुहम्मद के एक विवादास्पद कैरिकेचर को फिर से प्रकाशित करने की घोषणा करने और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रोन के उन्हें पीछे हटने से इनकार किये जाने के बाद कई आतंकी हमलों का सामना करना पड़ा है। राष्ट्रपति के कदम के विरोध में कई मुस्लिम देशों में विरोध प्रदर्शन भी हुए।

गत 16 अक्टूबर को एक आतंकवादी ने माध्यमिक स्कूल के एक शिक्षक सैमुअल पैटी की उस समय गला काटकर हत्या कर दी जब वह मुहम्मद के विवादास्पद कार्टून का प्रयोग करते हुए फ्री स्पीच के संबंध में पढ़ा रहे थे। एक अन्य घटना में 30 अक्टूबर को नाइस चर्च में एक अन्य आतंकवादी ने तीन लोगों की चाकू घोंपकर हत्या कर दी और कई अन्य को घायल कर दिया। इसके अलावा दो नवंबर को वियना के सिटी सेंटर में एक आतंकवादी ने चार लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी तथा 20 अन्य को घायल कर दिया। बाद में पुलिस ने हमलावर आतंकवादी को भी मार गिराया।

वार्ता

Related Posts