श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में विभिन्न जगहों पर हिमपात के कारण शनिवार को लगातार छठे दिन भी केरन, कर्नाह, माछिल और तंगधार जैसे सीमावर्ती कस्बे तथा दूर-दराज के कई गांव समूची कश्मीर घाटी से कटे रहे।

कुपवाड़ा के पुलिस कंट्रोल रूम (पीसीआर) के एक अधिकारी ने ‘यूनीवार्ता’ को बताया कि कई फुट तक बर्फ जमा होने के कारण कर्नाह, केरन, माछिल और तंगधार सहित कई दूर-दराज के गांवों में यातायात प्रभावित रहा। उन्होंने कहा कि साधनाटॉप पर लगभग पांच फुट, जबकि फिरकियान पास और जी-गली पर इस सप्ताह की शुरुआत में लगभग दो से तीन फीट तक बर्फबारी हुई है। आज तड़के से हो रही हल्की बर्फबारी के कारण शनिवार को बर्फ निकासी अभियान को रोकना पड़ा। इस बीच सड़कों पर फिसलन भरी स्थिति और बर्फ जमा होने के कारण सीमावर्ती शहर गुरेज और 12 से अधिक दूर-दराज के गांवों की घाटी से यातायातसंपर्क टूटा रहा। बर्फ हटाने का काम पूरा होने के बाद इन क्षेत्रों में यातायात बहाल किया जाएगा।

बांदीपोरा के एक पीसीआर अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि गुरेज जो तीन तरफ से पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से घिरा हुआ है, में शनिवार को लगातार सातवें दिन यातायात आवाजाही ठप रही। जिला मुख्यालय बांदीपोरा के साथ एलओसी के पास गुरेज, नीरू और कई अन्य क्षेत्रों को जोड़ने वाले रज्जन पास पर इस सप्ताह 2.5 फुट से अधिक बर्फबारी हुई है।

वार्ता