Home StateUttar PradeshJalaun बुंदेलखंड एक्प्रेसवे में काम करने वाले तीन लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री ने मजदूरों से की

बुंदेलखंड एक्प्रेसवे में काम करने वाले तीन लाभार्थियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री ने मजदूरों से की

by naveen
61 views

उरई(जालौन) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार कार्यक्रम‘ का शुभारंभ शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया। इस दौरान उन्होंने जालौन से गुजरने वाले बुंदेलखंड एक्प्रेसवे में काम करने वाले तीन लाभार्थियों से बात की। इन लाभार्थियों ने पीएम मोदी और सीएम योगी को अपनी होने वाली परेशानी से भी अवगत कराया।
पीएम मोदी ने संवाद की शुरुआत गोंडा की रहने वाली विनीता से की थी, लेकिन उसके बाद जालौन के दीपू, नितिन और कुशीनगर के रहने वाले अमरेंद्र से की, जो जालौन से निकलने वाले बुंदेलखंड एक्प्रेसवे में काम कर रहे है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इन सभी से लॉकडाउन के दौरान होने वाली परेशानी के बारे में पूछा, जिसमें उन्होंने बताया कि उन्हें लॉकडाउन ने उनका रोजगार छीन लिया लेकिन उन्हें जालौन आने पर रोजगार मिल गया है और यह रोजगार बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में मिला है, जिससे वह बहुत खुश है। प्रधानमंत्री से संवाद करने वाले जालौन के डकोर विकासखंड के वर्ध गांव के रहने वाले दीपू ने बताया कि वह हैदराबाद में एलमुनियन सीट का काम करते थे, वहां पर दो माह काम किया लेकिन लॉक डाउन ने उनका रोजगार छीन लिया, बड़ी मशक्कत के बाद वह अपने घर आये, लेकिन जब वह अपने घर वापिस आये और उनकी स्किल के बारे में अधिकारियों ने पता किया तो उन्हें बुंदेलखंड एक्प्रेसवे में काम मिल गया। इसी तरह जालौन के वर्ध गांव के रहने वाले नितिन कुमार ने बताया कि वह मध्यप्रदेश के खरगौन में काम करते थे और हाईवे पर सरिया सँटिंग का काम करते थे और यही काम बुंदेलखंड एक्प्रेसवे में मिला है। इसके अलावा कुशीनगर के रहने वाले अमरेंद्र कुमार जो बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे काम कर रहे है, उन्होंने बताया कि कुशीनगर से वह गुजरात के पोरबंदर गये हुये थे और वहां पर नेशनल हाईवे में काम करते थे और अब वही काम उन्हें अपने प्रदेश में बुन्देलखड़ एक्सप्रेसवे में मिला है उन्हें बहुत खुशी हो रही है। सभी प्रवासी मजदूरों ने पीएम मोदी और सीएम योगी का बहुत आभार जताया और कहा कि उनके बदौलत ही उन्हें अपने घर के पास ही काम मिल गया। सभी मजदूरों ने बताया कि पीएम मोदी ने सभी से लॉक डाउन के दौरान आने वाली समस्या के बारे में भी पूंछा था। बता दे कि सभी मजदूरों को पीएम मोदी और सीएम योगी से संवाद कराने के लिये पिछले 4 दिनों से ट्रेनिंग दी जा रही थी, जिससे वह पीएम के सामने अपनी सही से बात रख सके। बाद में डीएम डॉक्टर मन्नान अख्तर ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सभी मजदूरों को अवगत कराया कि बुंदेलखंड में यह सड़क का निर्माण हो रहा है, वह विकास के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है और सभी मजदूरों ने प्रधानमंत्री जी को आश्वासन दिया कि वह जल्द से जल्द इस सड़क का निर्माण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे डीएम ने बताया कि जनपद में लगभग 40000 कामगार मजदूर बाहर से आए हैं और उन्हें आत्मनिर्भर भारत के तहत है स्किल मैपिंग करा कर उन्हें रोजगार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में उत्तर प्रदेश के अन्य जनपदों के कामगार मजदूरों को भी काम दिया जा रहा है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे में 800 मजदूरों को काम मिल रहा है, इसके अलावा मनरेगा के तहत भी कामगार मजदूरों को रोजगार दिया जा रहा है। इस दौरार सांसद भानु प्रताप सिंह वर्मा, सदर विधायक उरई गौरी शंकर वर्मा,विधायक माधौगढ़ मूलचन्द्र निरंजन, जिलाधिकारी डाॅ0 मन्नान अख्तर, मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह, उपजिलाधिकारी सदर सत्येन्द्र सिंह, बुन्देलखण्ड ऐक्सप्रेस वे से जुड़े अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

  • रिपोर्ट-नवीन कुशवाहा

You may also like