बेईमानों की फौज को पर्दे की आड़ से कौन दे रहा राजनैतिक संरक्षण चर्चा का विषय

by News Desk
33 views

कौशाम्बी :-: जिले में गरीबों को बरगला कर अपनी राजनैतिक रोटियां सेकने वालों की कमी नहीं है गरीब कमजोर को बरगला कर रोटियां सेकने वाले इसकी आड़ में उनकी मदद का झांसा देकर गरीबों से धना दोहन भी करते हैं और जब राजनीति की रोटियां सेकने वालों की दाल नहीं गलती तो ड्रामेबाजी कर जनपद मुख्यालय में धरना प्रदर्शन कर आला अधिकारियों का ध्यान बांटने का प्रयास करते हैं

इसी तरह का एक मामला आज जनपद मुख्यालय मंझनपुर में देखने को मिला है जिसमें सिराथू तहसील क्षेत्र के चक कादिलपुर गांव के तमाम लोगों ने मुख्यालय में धरना प्रदर्शन कर डीएम से न्याय मांगा है लेकिन धरना प्रदर्शन करने वाले इन लोगों ने पूरी तरह से बेईमानी पर कदम रख दिया है तो इन बेईमानों को अब प्रशासन से कौन सा न्याय चाहिए इसे लेकर पूरे जिले में चर्चाएं हो रही हैं

घटनाक्रम के मुताबिक सिराथू तहसील के कादिलपुर चक गांव निवासी छेदीलाल पुत्र दुबई भान सिंह पुत्र रामस्वरूप अपने पट्टी दारों से अपनी भूमि धरी जमीन पर कब्जा नहीं पा रहे थे जिसके चलते छेदीलाल और भान सिंह ने अपनी जमीन राकेश पाण्डेय पुत्र हरि शंकर पाण्डेय के हाथ जमीन बैनामा कर जमीन का पैसा लेकर जमीन को बेच दिया छेदीलाल और भान सिंह की भूमि धरी भूमि पर उन्हीं के पट्टी दार रामचंद्र बुलाकी प्रेमचंद्र आदि ने गुंडई बलपूर्वक से बीते चार दशक से कब्जा कर खेती की फसल ले जाते थे बराबर रामचंद्र बुलाकी प्रेमचंद्र के ऊपर फसल उठा ले जाने का विरोध छेदीलाल और भान सिंह किया करते थे लेकिन उसके बाद भी छेदीलाल भान सिंह को उनकी भूमि की उपज उन्हें नहीं मिलती थी जिस से पीड़ित होकर छेदी लाल भान सिंह ने अपनी जमीन को राकेश पांडेय को बेच कर उन्हें मालिकाना हक दे दिया

छेदीलाल भान सिंह से खरीदी जमीन पर राकेश पाण्डेय अपना मकान बनाना चाहते हैं जिस पर चार दशक से गुंडई कर दूसरी के जमीन कब्जा करने वाले रामचंद्र बुलाकी प्रेमचंद्र आदि ने उनके निर्माण को रोक दिया फटीचर से दिखने वाले इन दबंगों ने राकेश पाण्डेय के निर्माण के कुछ हिस्से को धराशाही भी कर दिया अब उन्हें उनकी भूमिधारी जमीन पर यह फटीचर से दिखने वाले दबंग काबिज नहीं होने देने चाहते और मुकदमे के झूठे मकड़जाल में उलझा कर दूसरे के जमीन पर रामचंद्र बुलाकी प्रेमचंद्र आदि का गुंडई से कब्जा बना रहे इसी मकसद से बेईमानों की फौज ने जनपद मुख्यालय मंझनपुर में धरना प्रदर्शन कर आला अधिकारियों का ध्यान बांटने का प्रयास किया है

अब सवाल उठता है कि जमीन की वास्तविक मालिक राकेश पाण्डेय और को उनकी जमीन पर कब्जा प्रशासन दिला पाता है या फिर आम जनता की तरह वह भी राजनीति का शिकार होकर अपनी जमीन पर कब्जा पाने से वंचित रह जाएंगे इसे लेकर लोगों के बीच चर्चा हो रही है

रिपोर्ट श्रीकान्त यादव

Related Posts