लंदन। अमेरिका के बाद ब्रिटेन भी अफगानिस्तान से अपने सभी सैनिकों की वापसी की घोषणा कर सकता है। दैनिक समाचार पत्र द टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन की सेना अफगानिस्तान में बहुत हद तक अमेरिकी सेना के अड्डों और उसके ढांचे पर निर्भर करती है।

अमेरिकी सैनिकों की अफगानिस्तान से संपूर्ण वापसी के बाद ब्रिटेन के सैनिकों के लिए वहां मौजूद रहकर काम करना बेहद कठिन हो जायेगा इसलिए ब्रिटेन भी अफगानिस्तान से अपने सभी सैनिकों की वापसी की योजना बना रहा है। इस समय ब्रिटेन के करीब 750 सैनिक अफगानिस्तान में मौजूद हैं। रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन काबुल में स्थित अपनी सैन्य प्रशिक्षण अकादमी भी सौंप देगा।

गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने मंगलवार को एक बयान में कहा था कि इस वर्ष 11 सितंबर तक अफगानिस्तान से सभी अमेरिकी सैनिकों को वापस बुला लिया जायेगा।

अफगानिस्तान में इस समय करीब 2500 अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं। पिछले करीब 20 वर्षों से अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं।

वार्ता