मंडी कर्मचारियों की अनिश्चितकालीन हड़ताल

by vaibhav

कुंभराज(मध्यप्रदेश):- गुना जिले के कुंभराज मंडी कर्मचारियों के वेतन-भत्तों की स्थाई व्यवस्था जब तक सरकार लिखित में नहीं करती, तब तक अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी। क्योंकि संयुक्त संघर्ष मोर्चा मंडी बोर्ड भोपाल के बैनर तले 3 सितंबर से हड़ताल की थी। 7 सितंबर को मुख्यमंत्री के 15 दिवस में सभी मांगों के निराकरण के मौखिक आश्वासन के बाद हड़ताल तत्सयम स्थगित की गई थी, लेकिन कोई निराकरण न होने और बैठक के लिए भी समय न देने से 25 सितंबर से हड़ताल दोबारा चालू की गई है। केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन अध्यादेशों के पालन में राज्य सरकार द्वारा जो मॉडल एक्ट लागू किया गया है।

उसके विरोध में मंडी कर्मचारियों, हम्माल-तुलावटियों द्वारा शनिवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल की गई है। एक ही मुख्य मांग है कि सरकार पूरी तरह सरकारी कर्मचारी घोषित करें एवं वेतन भत्तों की जिम्मेदारी ले। निजी मंडिया स्थापित होने से मंडियों की आवक और मंडी शुल्क द्वारा होने वाली मंडी की आय में कमी आएगी, जिसका सीधा प्रभाव हमारे वेतन-भत्तों पर पड़ेगा ऐसी स्थिति में सरकार यह स्पष्ट करें कि मंडियों की आय आवक कम होने की स्थिति में कर्मचारियों को वेतन किस प्रकार मिल पाएगा।

इदरीस मंसूरी

Related Posts