Home StateMadhya Pradesh मनमानी पर उतारू हुए किराना व्यवसायी, तय रेट से अधिक में बेंच रहे सामान

मनमानी पर उतारू हुए किराना व्यवसायी, तय रेट से अधिक में बेंच रहे सामान

by vaibhav
52 views

रायसेन(मध्य प्रदेश)। लॉकडाउन में अनेक दुकानदार ऐसे हैं, जो खाद्य सामग्री के मनमाफिक दाम वसूल रहे हैं। विरोध करने पर सिर्फ एक ही जवाब कि पीछे से सप्लाई कम आ रही है और जो आ रही है, वह महंगी मिल रही है। ऐसे दुकानदारों के विरोध में बुधवार को विभिन्न समाजों के अध्यक्ष एवं समाजसेवी आज लामबंद हुए तथा किराना दुकानदारों की मनमानी के खिलाफ कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। 
बुधवार को अधिवक्ता मुकेश शाक्या की अगुवाई में विभिन्न समाजों के अध्यक्षों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए मांग की कि प्रशासन द्वारा आवश्यक वस्तुओं के मूल्य का निर्धारण किया जाए तथा उनके मूल्य को सूचीबद्ध कर दुकानदारों को सौंपा जाए। ताकि किराना व्यवसायी मनमाने दामों पर सामग्री का विक्रय न कर सकें। ज्ञात हो कि खाद्य सामग्री की लगभग सभी वस्तुओं में 20 से 35 रुपये तक की बढ़ोतरी देखी जा रही है। अत्यधिक दाम वसूली की शिकायतें प्रशासन तक भी पहुंच रही हैं, लेकिन कार्रवाई न होने की वजह से ऐसे दुकानदारों के हौसले बुलंद हैं। 
ज्यादा मुनाफा कमाने की मानसिकता निंदनीय
लॉकडाउन के चलते सब्जी मंडी बंद है। सिर्फ परचून की दुकानों और फल-सब्जी वालों को कॉलोनियों में जाकर बिक्री करने की हिदायत है। ऐसे में अनेक दुकानदार खाद्य सामग्री को निर्धारित रेट से कहीं ज्यादा दामों पर बेचकर मुनाफा कमा रहे हैं। जबकि किराना दुकानदारों के लिए गाइडलाइन जारी की है। समाजसेवियों ने रेट निर्धारित होने के बाद भी व्यापारियों द्वारा ज्यादा मुनाफा कमाने की मानसिकता की निंदा की है। 
मूल्य निर्धारण की मांग को लेकर ज्ञापन
बुधवार को संत गाडगे बाब मालवीय रजक समाज के अध्यक्ष राकेश मालवीय के अलावा खटीक समाज के अध्यक्ष मनोज खत्री, वार्ड 1 के पार्षद पवन शाक्या, शाक्या समाज के जिला अध्यक्ष मुकेश शाक्या आदि ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए आवश्यक वस्तुओं के मूल्य निर्धारण की मांग प्रशासन से की है तथा इसकी सूची बनाकर व्यापारियों को सौंपने को भी कहा है ताकि किराना व्यवसायी तय सीमा से अधिक में सामग्री न बेंच सकें। 

रिपोर्ट :- राकेश मालवीय

You may also like