Home StateRajsthanBharatpur मीडिया चैनल पर चली खबर तो मदद को बढे हाथ,पीडिता को मिलेगी सहायता

मीडिया चैनल पर चली खबर तो मदद को बढे हाथ,पीडिता को मिलेगी सहायता

by Yogi
77 views

बयाना 27 जून। उपखंड के गांव नगला पुरोहित निवासी व तीन मासूम बच्चों की बेवा मां की मदद के लिए अब लूपिन संस्था की ओर से अपने हाथ आगे बढाए गए है। इस संस्था की ओर से इस बेवा व असहाय महिला को 15 हजार रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। यह सहायता सोमवार को यहां के उपखंड अधिकारी सुनील आर्य की मौजूदगी में पीडित महिला को दी जाएगी। गौरतलब रहे गत 21 जून को न्यूज क्रान्ति मीडिया चैनल पर ना न्याय मिला ना सहायता दर दर की ठोकरे खाने को मजबूर पीडिता मंत्री का आश्वासन भी निकला खोखला शीर्षक से प्रमुखता के साथ समाचार प्रकाशित कर गांव नगला पुरोहित निवासी इस दलित महिला की दुखभरी दास्तान प्रकाशित की गई थी।

ना न्याय मिला ना सहायता,दरदर की ठोकर खाने को मजबूर पीडिता, मंत्री का आश्वासन भी खोखला निकला

इस महिला के पति व भतीजा गत 1 फरवरी को शादी के निमंत्रण पत्र बांटने अपनी बाइक से दुसरे गांवों में गए थे जो इसी दिन शाम को वापसी के समय अचानक गायब हो गए थे। इन दोनो की लाशे पुलिस को 18 दिन बाद गांव बछैना मोड स्थित एक कुए में डूबी मिली थी। इसी कुए में उनकी बाइक मिली थी। किन्तु इन दोनों जनों के मोबाइल फोन अभी तक नही मिल सके है। गरीबी व आर्थिक तंगी से जूझ रही यह महिला करब से बने एक छोटे से छप्पर में अपने तीन मासूम बच्चों के साथ रहने को मजबूर है। जिसके पास ना दोनों समय के राशन का ना ही कपडे बिस्तरों बर्तनों का कोई इंतजाम हैै। उसके परिजनों व ग्रामीणो के सहयोग से यह छप्पर बनवाया बताया और फिलहाल ऐसे ही सहयोग से मुश्किल से दो समय की रोटी का इंतजाम हो पाता है। इस बेवा महिला को आवेदन पत्र भरे जाने के बावजूद अभी तक ना तो विधवा पेंशन स्वीकृत हो सकी है ना ही मुख्यमंत्री सहायता कोष से कोई सहायता मिल सकी है। ना ही पुलिस से कोई न्याय मिल सका है। ग्रामीणों ने बताया कि उनका यह गांव राज्य सरकार के राज्यमंत्री भजनलाल के क्षेत्र में आता है। उन्होंने इस हादसे के बाद इस महिला को पेंशन व आर्थिक सहायता और न्याय जल्दी ही दिलाने का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक कुछ नही मिल सका है।
फोटो – अपने तीनों मासूम बच्चों के साथ मदद का इंतजार करती असहाय महिला।

बयाना संवाददाता राजीव झालानी

You may also like