Home StateRajsthanAlwar रामगढ को चतुर्थ श्रेणी की नगरपालिका बनाने में समाजिक भेदभाव , विरोध में मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

रामगढ को चतुर्थ श्रेणी की नगरपालिका बनाने में समाजिक भेदभाव , विरोध में मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

by Yogi
9 views

रामगढ़ को नगरपालिका की घोषणा के बाद सरकार द्वारा जारी नोटीफिकेशन में रामगढ़ के नजदीक के गांवों की अनदेखी कर पांच किलोमीटर दूर तक के गांवों को जोड़ने से आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ताओं ने पूर्व सरपंच देवेंद्र दत्ता और सुखवंत सिंह के नेतृत्व में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम एसडीएम रेनू मीणा को ज्ञापन सौंपा।
जिसमें रामगढ़ नगरपालिका क्षेत्र के गठन में विधायक साफिया जुबेर खां द्वारा राजनैतिक द्वेश्ता और सामाजिक भेदभाव का आरोप लगाते हुए लिखा है कि राज्य सरकार द्वारा रामगढ़ को नगरपालिका बनाने की घोषणा से क्षेत्र वासियों में खुशी है लेकिन इसमें रामगढ़ से लगते हुए गांव केशव नगर,रामनगर,ललावण्डी, चंडीगढ़ आदि गांवों की अनदेखी कर रामगढ़ क्षेत्र से पांच किलोमीटर दूर के गांव यादव नगर, खिलोरा, दोहली ,पिपरोली गांवों को जोड़ने का जो सीधे नोटीफिकेशन जारी किया है उसमें क्षेत्रिय जनप्रतिनिधियों की बिना रायशुमारी के समाजिक भेदभाव किया गया है और अपनी जाति के लोगों को लाभ दिलवाने का प्रयास किया गया है। इसका हम लोग विरोध करते हैं और मांग करते हैं कि सामाजिक भेदभाव ना करते हुए निश्चित दूरी तक के अंदर आने वाले इन सभी गांवों को शामिल किया जावे। जिससे नगरपालिका की राजनीति में सामाजिक भेदभाव से बच सके।
ज्ञापन देने वालों में मण्डल अध्यक्ष गोविंद सैनी, पूर्व मण्डल अध्यक्ष गोपाल ठेकेदार, महावीर प्रसाद जैन सहित अनेक ग्रामीण एवं भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे

You may also like