लक्षण विहीन कोरोना मरीज ले सकते हैं होम आइसोलेशन की सुविधा 

by News Desk
24 views

हमीरपुर। कोविड-19 पर काबू पाने के लिए शुरू की गई होम आइसोलेशन की सुविधा का लाभ लेते हुए जनपद के 11 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। जबकि छह मरीज अब भी होम आइसोलेशन में हैं। 

कोविड-19 के सर्विलांस अधिकारी डॉ.एमके बल्लभ ने बताया कि जनपद में प्रतिदिन बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव होम आइसोलेशन के लिए आवेदन कर रहे हैं। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम मरीज के घर का दौरा करके शासन द्वारा निर्धारित किए गए मानकों को परखती है। अगर मरीज का घर मानकों में आता है, तो उसे होम आइसोलेशन की सुविधा दी जाती है, बशर्ते मरीज लक्षण विहीन होना चाहिए। होम आइसो लेशन के नोडल अधिकारी डॉ.पी के सिंह ने बताया कि अब तक 17 लोगों को होम आइसोलेशन की सुविधा प्रदान दीचुकी है, जिसमें 11 मरीज घर पर रहते हुए पूरी तरह ठीक भी हो गए हैं। छह मरीजों का होम आइसोलेशन अब भी जारी है। 

इस सुविधा के लिए जरूरी है कि इलाज करने वाले चिकित्सक के द्वारा कोरोना पॉजिटिव को लक्षण रहित रोगी के रूप में चिन्हित किया गया हो। रोगी के निवास पर स्वयं को आइसोलेट करने एवं परिजनों को क्वॉरंटीन करने की सुविधा हो। घर में कम से दो शौचालय हों। 24 घंटे रोगी की देखरेख करने के लिए एक देखभाल करने वाला व्यक्ति हो।

संपूर्ण आइसोलेशन अवधि के दौरान देखभाल करने वाले व्यक्ति एवं अस्पताल के मध्य संपर्क बनाए रखना जरूरी है। देखभाल करने वाले व्यक्ति एवं रोगी के नजदीकी संपर्कों को प्रोटोकॉल एवं उपचार प्रदान करने वाले चिकित्सक के परामर्श के अनुसार दवा लेनी होगी। आरोग्य सेतु एप को मोबाइल में डाउनलोड करना होगा। स्मार्ट फोन न होने की दशा में रोगी के द्वारा नियंत्रण कक्ष के दूरभाष पर अपने स्वास्थ्य के स्थिति की जानकारी देनी होगी। स्वास्थ्य विभाग द्वारा विकसित किए गए आइसोलेशन एप को मरीज को अपने स्मार्ट फोन पर डाउनलोड करना होगा। 

होम आइसोलेशन में रहने वाले लक्षणविहीन कोरोना पॉजिटिव मरीजों को एक किट खरीदकर अपने पास रखनी होगी। जिसमें पल्स ऑक्सी मीटर, थर्मो मीटर, मास्क, ग्लब्स, सोडियम हाइपोक्लोराइट साल्यूशन एवं प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली वस्तुएं होंगी। होम आइसोलेशन में रहने वाले रोगियों का होम आइसोलेशन कोरोना पॉजिटिव होने के दस दिनों पश्चात तथा पिछले तीन दिनों तक बुखार न आने की स्थिति में समाप्त माना जाएगा। इसके अगले सात दिनों तक रोगी घर पर ही रहकर अपने स्वास्थ्य की निगरानी करेगा ।

ऐसे रोगी जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता किसी कारणवश एचआईवी, अंग प्रत्यारोपित, कैंसर का उपचार कराने की वजह से कमजोर है, उन्हें होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं मिलेगी। इसके अलावा 18 साल से कम और 60 साल से अधिक आयुवर्ग के व्यक्तियों को भी होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं मिलेगी। 

Related Posts