तरबगंज(गोण्डा)।कोरोना वायरस से वचाव की जंग में युवा समाजसेवी शशांक मिश्र बढ़चढ़ कर हिस्सा लेरहे है।एक तरफ प्रशासन एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए है वही समाज में कुछ कर दिखाने की तमन्ना लिए हुए युवा समाजसेवी शशांक मिश्र कोरोना वायरस से वचाव के लिए गाँवो में डोर टू डोर जाकर वचाव सामग्री का बितरण कर रहे है।और जरूरत मन्दो को रासन व नगदी भी देरहे है। बताते चले की कोरोना वायरस से वचाव के लिए जहाँ पूरा देश परेशान है प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री पूरे देश से वचाव की बराबर अपील कर रहे है।वही गोण्डा जिले के तरबगंज तहसील के छोटे से गाँव धौरहराघाट के मजरा झामपुरवा में जन्मे व मुम्बई में रहकर अपना निजी व्यवसाय कर समाज में कुछ कर दिखाने की तमन्ना लिए हुए युवा समाजसेवी विनायक प्रशिछण संस्थान धौरहराघाट के अध्यछ शशांक मिश्र ने कोरोना वायरस महामारी से वचाव के लिए गाँवो में घर घर जाकर जरूरत मन्दो व गरीबो को रासन,मास्क,सेनेटाईजर व डिटाल साबुन के साथ नगदी का बितरण कर घर से ना निकलने की अपील कर रहे है।जो लाकडाऊन होने के बाद से बराबर गाँव में कैम्प कर रासन व नगदी का बितरण रहे है।साथ में २१दिनो के लाकडाऊन में गरीबो को २१००रूपये की सहायता भी कर रहे है।
पूछने पर शशाँक मिश्र ने बताया की कोरोना वायरस महामारी से वचाव के लिए गाँवो में जो गरीब व कमजोर तबके के लोग है जिनके पास वचाव के उपकरण उपलब्ध नही है व घर में खाने के रासन नही है उन्हे वचाव के उपकरण सहित सभी जरूरी चीजे हर गरीब को रासन के साथ 2100रूपये भी मुहैया कराई जारही है।

रिर्पोट.रमेश कुमार मिश्र.