सम्पूर्ण समाधान दिवस में चिकित्सक पर लगा डाक्टरी न करने का आरोप

by nikhil

गोंडा :- आज मनकापुर में माह के प्रथम मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस जिला अधिकारी डॉ नितिन बंसल की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। इस दौरान कुल 128 शिकायती पत्र आए जिनमें महज तीन शिकायती पत्रों का मौके पर निस्तारण हो सका।


मंगलवार को आयोजित तहसील दिवस की अध्यक्षता करते हुए जिला अधिकारी डॉ नितिन बंसल ने मौजूद विभागाध्यक्ष को निर्देशित करते हुए कहा कि जन समस्याओं को अधिकारी समय बद्ध तरीके से निस्तारित करें। हीला हवाली कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी, शासन के मंशानुरूप सभी विभागों में कोविड-19 के तहत जारी दिशानिर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से किया जाए।



संपूर्ण समाधान दिवस में मनकापुर थाना क्षेत्र के देवरिया गांव निवासी गिरीश बहादुर उपाध्याय पुत्र स्वर्गीय बृज बिहारी ने शिकायती पत्र देकर कहा है कि उनके लड़के नंदकिशोर को गांव के सत्यम पुत्र संतोष व शिवम पुत्र जितेंद्र 3 अक्टूबर को सायंकाल लगभग 7:00 बजे घर से खेत पर जाते समय मारा पीटा, उसके दाहिने हाथ में चोट लगी।

घटना की सूचना कोतवाली मनकापुर को दिया लेकिन रिपोर्ट नहीं दर्ज की गई। पीड़ित अपने लड़के को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनकापुर में चिकित्सीय परीक्षण के लिए ले गया तो डॉ डीके भास्कर ने चिकित्सीय परीक्षण करने से मना कर दिया, कहा कि अधीक्षक ने उन्हें रोक रखा है।

दिए गए शिकायती पत्र में पीड़ित ने यह भी कहा है कि उसने आई जी आर एस शिकायत दर्ज कराया है लेकिन अभी तक पुलिस व स्वास्थ्य विभाग का कोई सहयोग नहीं मिला है। पीड़ित ने घटना से संबंधित प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करवा कर चिकित्सीय परीक्षण की मांग की है।


वही सीएचसी अधीक्षक से जब उनका पक्ष जानने की कोशिश की गयी , लेकिन संपर्क नही हो सका।
संपूर्ण समाधान दिवस के मौके पर जिलाधिकारी गोंडा डॉ नितिन बंसल,सीडीओ शशांक त्रिपाठी , एसपी शैलेश कुमार पांडे, सीएमओ डॉ मधु गोरिला ,एसडीएम मनकापुर हीरालाल, तहसीलदार आदि विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे।


रिपोर्ट राहुल तिवारी

Related Posts