सरकार की खामोशी के खिलाफ सपा ने किया मौन धारण

by vaibhav

कानपुर। हाथरस काण्ड में भले ही सभी आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं,लेकिन यूपी के सीएम आदित्यनाथ की खामोशी पर अब सियासी बवाल खड़ा हो चुका है। जिसके चलते योगी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल समाजवादी पार्टी के नेताओं ने कानपुर में मौन धारण करते हुए सरकार की खामोशी के खिलाफ विरोध जताया।

शिक्षक पार्क में मौन धारण किये सपा नेताओं ने अपने पत्र व्यवहार के जरिये यह बताया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था का हाल अब बेहाल हो चुका है,जिसकी मुख्य जिम्मेदारी योगी सरकार की चुप्पी है। जिसके चलते लगातार अपराध बढ़ता जा रहा है। वहीं इन अपराधों में सबसे अधिक महिला सुरक्षा अधिनियम और हत्याओं का होना आम सी बात हो चुकी है। लेकिन योगी सरकार हमेशा विकास का नारा लगाती रहती है। जिसपर कहीं भी कुछ दिखाई नही देता।

वहीं सपाइयों ने यह भी बताया है कि अगर सरकार का रवैया इसी तरह रहा तो वह अपना इस्तीफा सौंप दे। गांधी जयंती के अवसर पर मौन धारण कर सरकार को चेताने का काम करने वाली महिला सपा नेता नूरी शौकत का कहना है कि पूर्वजो की मेहनत की वजह से सभी लोग आज़ादी से घूम रहे है। उन्होंने जिस भारत का सपना देखा था वो चूर हो चुका है। आज के दौर में बेटिया जिस दौर से गुजर रही है वो काफी शर्मनाक है। जिन दरिंदो ने हाथरस की घटना को अंजाम फांसी होनी चाहिए। वही मौन धारण की अगुवाई कर रहे सपा नगर अध्यक्ष डॉ इमरान का कहना है कि किसानो की समस्या,बढ़ रही महंगाई और महिलाओ के साथ हो रही घटनाओ को लेकर प्रदेश सरकार नाकाम है,इसलिए गांधी जयंती के अवसर पर मौन प्रदर्शन कर सरकार को चेताने का काम किया जा रहा है।

गांधी प्रतिमा के बाहर किया प्रदर्शन

प्रदेश में बढ़ते अपराध और हाथरस की घटना को लेकर सपाइयों ने शुक्रवार को मौन होकर प्रदर्शन किया। इस दौरान दो अक्टूबर के मौके पर गांधी जी के प्रतिकात्मत स्वरूप को भी दर्शाया गया। यह धरना फुलबाग के गांधी प्रतिमा के बाहर किया गया। धरने का नेतृत्व पूर्व उपाध्यक्ष सपा शिवम चंद्रा ने किया।

कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts