NEWS KRANTI
Latest hindi News Website

- Advertisement -

- Advertisement -

साइकिल सिटी घोषित हो शहर बनारस, सुधर जाएगी लोगों की सेहत

13

स्वास्थ्य परिचर्चा का हुआ आयोजन

- Advertisement -

वाराणसी |  आयोजन की शुरूआत परिचर्चा में आमंत्रित विशेषज्ञ चिकित्सकों के अभिवादन संग हुई। संचालन कर रहीं मेघा पाठक ने आयोजन के औचित्य की जानकारी देने के बाद सबसे पहले सीएमओ डा. वीबी सिंह को उद्बोधन के लिए आमंत्रित किया। डा. सिंह ने ‘आयुष्मान इंडिया-2019’ के तहत वाराणसी में स्वास्थ्य क्षेत्र की चुनौतियों पर प्रकाश डाला। साथ ही उपलब्ध चिकित्सीय सेवाओं की जानकारी दी। वहीं बीएचयू के हृदय रोग विशेषज्ञ डा. ओम शेकर ने शहर के बिगड़ते स्वास्थ्य को लेकर न सिर्फ जागरुकता कार्यक्रमों की जरूरत पर बल दिया, बल्कि शहर वासियों को बेहतर सेवा देने के लिए सरकारी व निजी चिकित्सकों के परस्पर सहयोग को अहम बताया। डा. एमके गुप्ता ने बच्चों के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की बात कही।

सही समय पर टीकाकरण, बेहतर खान-पान, सही दिनचर्या आदि अपनाने पर युवावस्था में वे कई तरह की बीमारियों से बचे रहेंगे। ऑर्थोपेडिक सर्जन डा. एसके सिंह शहर की सड़कों की हालत को रीढ़ व गर्दन संबंधी रोग का प्रमुख कारण बताया। श्वांस रोग विशेषज्ञ डा. एसके अग्रवाल ने बनारस से दिल्ली तक के वायु प्रदूषण को मानव स्वास्थ्य के लिहाज से बड़ी चुनौती माना। कहा यह प्रदूषित हवा के माध्यम से हृदय में पहुंचकर आवशोषित होते हुए रक्त के जरिए शरीर के हर अंग में पहुंच रहा है और उन्हें कमजोर भी कर रहा है। नेत्र रोग विशेषज्ञ डा. आरके ओझा ने आंख की चोट में तत्काल इलाज मिलने पर रिकवरी के अधिक संभावना रहती है। हृदय रोग विशेषज्ञ डा. अश्विनी टंडन ने युवाओं में तेजी से बढ़ रही हृदय संबंधी बीमारियों की वजह बिगड़ी हुई लाइफ स्टाइल व जंक फूड को बताया।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.