हाईटेंशन लाइन संपर्क में आने से मजदूर की हुई मौत, घण्टों चला हंगामा

by saurabh

कानपुर। मुवाबजे को लेकर हाइवे पर शव रखकर प्रदर्शन कर रहे लोगो हटाने के लिए पुलिस किया हल्का बल प्रयोग , पुलिस के इस कार्य से नाराज गांव वालों ने किया पुलिस टीम पर पथराव। मौके पर पहुचे एसडीएम की गाड़ी को आक्रोशित ग्रामीणों ने बनाया निशाना। मौके से पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने भागकर बचाई जान। हालातो को देखते हुए जिला प्रशासन ने भारी मात्रा में पुलिस बल की तैनाती कर हालात पर पाया काबू।

घटना घाटमपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत वीरपुर गांव की है , जहां उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक निर्माणाधीन गेस्ट हाउस के पास से गुजर रही हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से एक मजदूर की मौत हो गई । घटना की सूचना पर पहुंचे ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने शव रखकर कानपुर हमीरपुर हाईवे जाम कर दिया। इस दौरान मुआवजे की मांग को लेकर उन्होंने मजिस्ट्रेट और पुलिस की गाड़ियों पर जमकर पथराव भी किया फिलहाल अभी भी स्थिति सामान्य नही हुई है।

जानकारी के मुताबिक वीरपुर गांव के रहने वाले लखपत मजदूरी करते थे उनके 4 बच्चे है पास ही में एक निर्माणाधीन गेस्ट हाउस में काम चल रहा था जहां लखपत काम कर रहा था उसके पास से ही हाई टेंशन लाइन गुजरती है जिसकी चपेट में आने से मजदूर की मौत हो गई । घटना की सूचना पर आनन-फानन में पहुंचे ग्रामीणों ने उसको अस्पताल पहुंचाया जहां पर उसकी मौत हो गई घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों और परिजनों ने शव रखकर हाईवे जाम कर दिया देखते ही देखते हाईवे पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण सड़कों पर उतर आए और जमकर हंगामा करने लगे घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने समझाने का प्रयास किया और भीड़ को हटाने के लिए उन्हें थोड़ा बल का भी प्रयोग करना पड़ा जिसमे ग्रामीण उग्र हो गए और जमकर पथराव कर दिया ।

ग्रामीण मुआवजे की मांग पर अड़े रहे वहीं ग्रामीणों को समझाने पहुंचे एसडीएम अरुण कुमार की गाड़ी पर भी जमकर पथराव कर दिया जिसमे गाड़ी बुरी तरीके से क्षतिग्रस्त हो गई। आक्रोशित ग्रामीणों को देख पुलिस प्रशासन सहित एसडीएम सुरक्षा गार्ड काफी दूर जाकर खड़े हो गए लेकिन ग्रामीण जस के तस पथराव करते रहे और जिम्मेदार अधिकारी मूक दर्शक बने पूरी घटना को देखने के लिए मजबूर नजर आए ।

  • कौस्तुभ शंकर मिश्रा

Related Posts