NEWS KRANTI
Latest hindi News Website

- Advertisement -

- Advertisement -

होनहारों की झलक दिखाता टेककृति

8

कानपुर। भविष्य के भारत के कर्णधार आने वाले समय में कैसे देश को टेक्नाॅलाजी के माध्यम से दुनिया के फलक तक ले जायेगें, इसकी झलक आज आईआईटी कानपुर में चल रहे वार्षिक अंतर्राष्ट्रीय तकनीकी महोत्सव टेककृति में देखने को मिली।

समारोह के दौरान आज दूसरे दिन मुख्य रूप से ड्रोन विमानों से सबका ध्यान खीचा। साथ ही भविष्य में बनने जा रहे डिजिटल इंडिया को हैकिंग से रोकने के लिए हैक प्रूफ सिस्टम बनाने पर चर्चा की गई।

भारतीय सेना की मदद करेगा ‘कैमरे वाला ड्रोन’
टेककृति में हिस्सा ले रहे उत्तर प्रदेश के जालौन जिले के सागर कुमार ने एक एैसा ड्रोन तैयार किया है जो किसी बिल्डिंग में छिपे आतंकवादियों या अपराधियों की टोह लेने के काम आयेगा।

- Advertisement -

हैक्जाटोन नाम का यह ड्रोन भारतीय सेना को ध्यान में रखकर बनाया गया है। इसमे 2 कैमरे लगे हैं। ड्रोन में लगे थर्मल कैमरा के जरिए छिपे हुए किसी भी व्यक्ति या आतंकवादी को देखा जा सकता है, जबकि दूसरे कैमरे की सहायता से छिपे हुए व्यक्ति की फोटो खींचा जा सकता है। इसके अलावा इस ड्रोन से करीब 2 किलो तक का सामान ढाई किलोमीटर तक आसानी से पहुंचाया जा सकता है।

लगभग 2 लाख की लागत वाले इस ड्रोन की खासियत यह है कि रिमोट में अगर कोई खराबी आ जाए, तो ये ड्रोन खुद ब खुद उसी जगह लौट आएगा, जहां से इसे उड़ाया गया।

हैकरों से छुटकारा दिलायेगी नयी टेकनाॅजी
आधुनिक युग मे डिजिटल वार ने एक व्यापक रूप ले लिया है। दुश्मन देश पर हैकिंग के माध्यम से उसकी कई गोपनीय जानकारियों को चुटकीभर में प्राप्त किया जा सकता है। ऐसे किसी भी खतरे से निपटने के लिए टेककृति में हैकप्रूफ नेेटवर्क तैयार करने पर जोर दिया गया। जो कि जल्द ही भविष्य में मूर्त रूप ले सकेगा।

Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.