गोण्डा:- जिले में अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे अभियान में पुलिस अधीक्षक गोण्डा शैलेश कुमार पाण्डेय ने जनपद के समस्त प्रभारी निरीक्षक / थानाध्यक्षों को कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिये थे, उक्त क्रम में थाना को. देहात को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है । दिनांक 28/29. दिसंबर 2020 की रात्रि को थाना को देहात पुलिस रात्रि गश्त, तलाश वांछित अभियुक्त व देखभाल क्षेत्र में रवाना होकर पाण्डेयपुर तिराहे के पास मौजूद थे कि तभी वहां पर रेलवे सुरक्षा बल के निरीक्षक प्रवीण कुमार टीम के आये आपस में अपराध नियंत्रण एवं अपराधियों के बारे में बातचीत कर ही रहे थे कि मुखबिर की सूचना मिली कुछ व्यक्ति सफेद रंग की बोलेरो से रेलवे का सामान चोरी करके बहलोलपुर की तरफ से पाण्डेयपुर की तरफ आ रहे है।

इस सूचना पर को देहात पुलिस व आरपीएफ की संयुक्त टीम द्वारा पाण्डेय तिराहा के पास रोड के दोनो तरफ खड़े हो गये कि उक्त बोलेरो वाहन के आने पर दबिश देकर उक्त वाहन को रोक कर जगराम गुप्ता उर्फ रामू पुत्र मोतीलाल नि. ग्राम बनरही, रामराज यादव पुत्र स्व.बाले नि. ऐलनपुर ग्रन्ट थाना मनकापुर, रामकरन वर्मा पुत्र लल्लन नि. तामापार बनकटवा थाना मनकापुर जनपद गोण्डा अभियुक्तगणों को गिरफ्तार कर लिया गया तथा एक अभियुक्त राधिका पुत्र संगम नि0 ग्राम ज्ञानीपुर थाना छपिया जनपद गोण्डा अधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। तलाशी से अभियुक्त जगराम गुप्ता उर्फ रामू के कब्जे से 1अवैध तमंचा 12 बोर व 2 जिन्दा कारतूस और अभियुक्त रामराज यादव के कब्जे से 1 नाजायज चाकू बरामद हुआ तथा बोलेरो गाड़ी सं. यू.पी. 43एस1078 से 12 बंडल सिंग्नल केबल ( कुल 410 मीटर अनुमानित कीमत रु0 1,00,000/-) व 2 हेक्सा ब्लेड बरामद हुआ। अभियुक्तगणों ने पूछताछ के दौरान बताया कि वे लोग यह केबल सोनी गुमटी से रेलवे स्टेशन की तरफ जाने वाली रेलवे लाइन के किनारे से चोरी कर ले जा रहे थे। यह चारो लोग मिलकर रेलवे लाइन के किनारे रखे केबल को हेक्सा ब्लेड से काटकर बंडल बनाकर ले जाते है और उसको जलाकर उसके अन्दर से निकले तांबा को चलते फिरते कबाड़ियों को बेचकर पैसा कमाते है और आपस में बांट लेते है इस काम को करने में मुख्य भूमिका राधिका पुत्र संगम की रहती है । आरपीएफ निरीक्षक द्वारा बताया गया कि यह केबिल रेलवे विभाग के सिंग्नल सिस्टम मे उपयोग होता है वर्तमान में रेलवे यार्ड गोण्डा क्षेत्र में रेलवे सिग्नल की रिमॉडलिंग का कार्य चल रहा है उसी कार्य में इस केबिल को भूमिगत करने के लिए रेलवे सिग्नल विभाग द्वारा जगह जगह पर रखा गया है यह केबिल रेलवे की संपत्ति है । उक्त गिरफ्तारी व बरामदगी के आधार पर थाना को. देहात में अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्तगणो को मा न्यायालय रवाना किया जा रहा है। इस पूरे प्रकरण और गिरफ्तारी के दौरान आशीष शर्मा (पीपीएस) प्रभारी थाना को.देहात,अतिरिक्त निरीक्षक जितेन्द्र बहादुर सिंह थाना को देहात, निरीक्षक प्रवीण कुमार रे.सु.ब., उ.नि.ललितेश कुमार सिंह, का. ब्रह्मानन्द राय, निखिल पासवान,उ.नि. जितेन्द्र कुमार वर्मा, हे.का. बालेन्द्र प्रताप, राज किशोर, का. राहुल य़ादव नागेन्द्र य़ादव मौजूद रहे।

रिपोर्ट राहुल तिवारी