NEWS KRANTI
Latest hindi News Website

- Advertisement -

- Advertisement -

1 फरवरी 2004 को कोंच में कोतवाली के अंदर हुए नर संहार मामले में सी ओ भगवान सिंह सहित 7दोषी करार

15

जालौन जिले की कोंच कोतवाली में लगभग 16 वर्ष पहले पुलिस द्वारा किए गए बर्बर नर संहार में गुरुवार को अदालत ने फैसला सुनाते हुए 7 पुलिस कर्मीयों को दोषी घोषित कर दिया था। इसके बाद कानपुर महानगर में तैनात सी ओ भगवान सहित सभी अभियुक्त जेल भेज दिए गए थे
गौरतलब है कि कोंच में एक फरवरी 2004 को यह जघन्य वारदात हुई थी जिससे पूरा प्रदेश थर्रा गया था l घटना में कोंच कोतवाली के अंदर पुलिस द्वारा नाजायज ढंग से गिरफ्तार किए गए व्यापारी की पैरवी में पहुंचे सपा नेता महेंद्र सिंह पर कोतवाल डी डी राठौड़ के नेतृत्व में पुलिस ने अंधाधुंध गोलियां चलाई जिसमें महेंद्र सिंह, उनके भाई सुरेन्द्र सिंह और दयाशंकर झा शहीद हो गए थे।घटना के बाद कोंच में भारी दंगा भड़क गया। गुस्साए लोगों ने थाना तहसील जला दिए। कई दिन कर्फ्यू लगाना पड़ा। शासन ने इस मामले में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक आर के त्रिपाठी को निलंबित कर दिया था।
सुनवाई के दौरान जेल में ही डी डी राठौर और एक अन्य अभियुक्त की मौत हो गई।
गुरुवार को अपर सत्र न्यायाधीश प्रथम अमित पाल सिंह ने कोंच कोतवाली में पदस्थ उप निरीक्षक भगवान सिंह अब सी ओ बन चुके हैं, सेवा निवृत थानाध्यक्ष लाल मनि गौतम सहित 7 लोगों को दोष सिद्ध ठहरा दिया था जिसके बाद सभी आरोपी हिरासत में ले लिये गये थे और देर शाम जेल भेज दिये गये थे ।
आज शुक्रवार को सजा सुनाते हुए ए डी जे प्रथम मा अमित पाल सिंह ने सभी सातों अभियुक्तों को उम्रकैद की सजा सुनाई ।

- Advertisement -

  • रिपोर्ट – मनोज कुमार शिवहरे ब्यूरो चीफ जालौन
Loading...

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.