दस दिवसीय अभियान में खोजे गए 30 नए टीबी मरीज

by shubham

हमीरपुर: केंद्र सरकार ने वर्ष 2025 तक टीबी रोग को देश से समाप्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रति छह माह में सघन टीबी रोगी खोज अभियान (एसीएफ) चलाया जाता है। पिछले नौ दिन से अभियान में करीब सवा लाख की आबादी के बीच 30 नए टीबी मरीज मिले हैं। सर्वाधिक सात रोगी राठ टीबी यूनिट के तहत मिले हैं।


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.आर के सचान ने बताया कि दो से 11 नवंबर तक जनपद में सघन टीबी रोगी खोजी अभियान (एसीएफ) चलाया गया। इस अभियान में 53 टीमें और 14 सुपरवाइजर लगाए गए थे। जनपद के 13 सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर टीबी की जांच की व्यवस्था है। उन्होंने बताया कि जिला क्षय रोग केंद्र (डीटीसी हमीरपुर) के तहत 13605 आबादी के बीच टीबी रोगियों की खोज का लक्ष्य दिया गया था, जिसके सापेक्ष आठ टीमों ने 14268 लोगों की जांच की। इनमें 68 संभावित मरीजों के सैंपल लेकर जांच की गई, जिसमें चार टीबी रोगी मिले हैं।


सात में टीबी की पुष्टि हुई

राठ टीबी यूनिट को 19700 आबादी के बीच अभियान चलाना था। इसके सापेक्ष 15853 लोगों की जांच की गई। इनमें 81 के सैंपल लिए गए, जिसमें सात में टीबी की पुष्टि हुई है। मौदहा में 24271 के सापेक्ष 23653 की जांच में 56 संभावित मरीजों के सैंपल लेकर जांच में पांच नए मरीज मिले हैं। मुस्करा में 14699 के सापेक्ष 12744 लोगों की जांच में 55 संभावित मरीजों के सैंपल लिए गए, जिसमें पांच में टीबी की पुष्टि हुई है। सरीला में 30111 के सापेक्ष 23790 लोगों की जांच में 71 संभावित मरीजों के सैंपल की जांच में पांच में टीबी की पुष्टि हुई है।

मध्यप्रदेश में बढ़ रहे कोरोना मरीज, 1046 नयें मामले


भरुआ सुमेरपुर में 22970 के सापेक्ष 19191 की स्क्रीनिंग हुई, जिसमें 20 के सैंपल लेकर जांच को भेजे गए जिसमें चार नए मरीज मिले हैं। कुल आधा दर्जन टीबी यूनिटों में 109499 लोगों तक टीम पहुंची और 351 के सैंपल लेकर जांच में 30 लोगों में टीबी की पुष्टि हुई है। जिला कार्यक्रम प्रबंधक राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि अभियान में मिले सभी 30 नए टीबी रोगियों का इलाज शुरू करा दिया गया है। उधर, अभियान के बीच में आगरा से आए डॉ.रोहताश तेवतिया ने अपनी टीम के साथ दो दिनों तक जनपद में भ्रमण कर एसीएफ अभियान की जांच-पड़ताल की।

Related Posts